Faridabad girl metro station (3)

तख्तापलट के बाद अफगानिस्तान की कमान 53 वर्षीय मुल्ला अब्दुल गनी बरादर के हाथ में है, मुल्ला तालिबान का संस्थापक सदस्य तथा वर्तमान में अंतरिम तालिबान सरकार का सदस्य हैं।

अफगानिस्तान में तालिबान का कंट्रोल हो चुका है, अब दुनिया के सामने सबसे बड़ा सवाल ये है कि आगे क्या होगा, कौन होगा तालिबान का चेहरा, जो अफगानिस्तान के भविष्य का फैसला लेगा, किसके हाथ में होगी करोड़ो लोगों की जिंदगी।

किसके हाथ
तख्तापलट के बाद अफगानिस्तान की कमान 53 वर्षीय मुल्ला अब्दुल गनी बरादर के हाथ में है, मुल्ला तालिबान का संस्थापक सदस्य तथा वर्तमान में अंतरिम तालिबान सरकार का सदस्य हैं, लेकिन इसका ताजा परिचय ये है कि अफगानिस्तान का अगला राष्ट्रपति बनना लगभग तय है। रविवार को अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे के बाद अब वहां नई सरकार को लेकर कवायदें तेज हो गई हैं, ऐसे में तालिबान के सबसे ताकतवर चेहरे मुल्ला अब्दुल गनी बरादर का नाम सबसे आगे माना जा रहा है।

तालिबान के मौजूदा 5 बड़े चेहरे के बारे में जान लीजिए
हैबतुल्ला अखुंजादा
2016 से तालिबान का प्रमुख
मुल्ला अब्दुल गनी बरादर
तालिबान का संस्थापक सदस्य
मुल्ला मोहम्मद याकूब
डिप्टी चीफ, तालिबान
मुल्ला उमर का बेटा
सिराजुद्दीन हक्कानी
डिप्टी चीफ, तालिबान
हक्कानी नेटवर्क का चीफ
अब्दुल हकीम हक्कानी
वार्ता टीम का प्रमुख

बरादर का कद सबसे बड़ा हो गया
वैसे तो ये 5 बड़े चेहरे हैं, लेकिन काबुल पर कब्जे के बाद बरादर का कद सबसे बड़ा हो गया है, बरादर ने अफगानिस्तान पर कब्जे के बाद तालिबान लड़ाकों के लिये बयान जारी करते हुए कहा, हमने असंभव दिखने वाली जीत हासिल की है, अब हमें अल्लाह के हुक्म के मुताबिक नरमदिली से काम करना होगा, afghanistan हमारे लिये ये इम्तिहान की घड़ी है, अब हम पर ये जिम्मेदारी है कि हम लोगों की कैसे खिदमत करते हैं और कैसे उनकी हिफाजत करते हैं, लोगों को बेहतर जिंदगी के लिये हम अपनी पूरी कोशिश करेंगे।

Read Also – अफगानिस्तान छोड़ने के बाद अशरफ गनी का पहला बयान, इस वजह से भागा