Thursday, April 22, 2021

बिना कपड़े के कोरोना मरीजों का इलाज करने वाली नर्स की बदली ‘किस्मत’, रातों-रात बन गई स्टार

नर्स नादिया ने बताया कि लगातार पीपीई किट पहने रहने की वजह से उन्हें काफी गर्मी लग रही थी, इसके साथ ही जरुरत से ज्यादा मरीज होने पर उन्हें ब्रेक भी नहीं मिल पा रहा था।

रुस के एक अस्पताल में पीपीई किट के नीचे सिर्फ इनर वियर पहनकर कोरोना मरीजों के इलाज में जुटी नर्स नादिया जुकोवा को अस्पताल ने वापस रख लिया है, मालूम हो कि 23 वर्षीय नादिया को पहले अस्पताल प्रबंधन में अनुचित ड्रेस कोड की वजह से नौकरी से निकाल दिया था, नादिया ने कहा कि उन्हें ना सिर्फ नौकरी वापस मिली है, बल्कि रुस के एक नामी स्पोर्ट्स वियर ब्रांड ने उन्हें मॉडलिंग का कांट्रेक्ट भी दिया है।

तस्वीर हुई थी वायरल
द सन में छपी रिपोर्ट के अनुसार नादिया की तस्वीर सोशल मीडिया पर जबरदस्त वायरल हुई थी, उन्हें रुस की टू हॉट नर्स कहा जाने लगा था, इसके बाद अस्पताल प्रबंधन ने उन्हें नौकरी से निकाल दिया था, हालांकि नादिया के समर्थन में दूसरे डॉक्टर और मेडिकल स्टाफ खड़े हो गये, उनके लिये अभियान चलाया गया, जिसके बाद अस्पताल को अपना फैसला बदलना पड़ा।

इनर वियर में इलाज
दरअसल नादिया ने बताया कि लगातार पीपीई किट पहने रहने की वजह से उन्हें काफी गर्मी लग रही थी, इसके साथ ही जरुरत से ज्यादा मरीज होने पर उन्हें ब्रेक भी नहीं मिल पा रहा था, इसलिये उन्होने अपने कपड़े उतार दिया और इनर वियर के ऊपर से पीपीई किट पहनकर काम करना ठीक समझा, क्योंकि वो मरीजों को छोड़ना भी नहीं चाहती थी, नादिया रुस के तुला शहर के एक अस्पताल में काम करती हैं।

नौकरी के साथ मॉडलिंग का ऑफर
नादिया ने बताया कि वो हमेशा से ही लोगों की सेवा करना चाहती थी, इसी वजह से उन्होने नर्स का पेशा चुना, वो दोबारा काम पर लौटकर अच्छा महसूस कर रही हैं, अस्पताल ने एक बयान जारी कर नाराज लोगों से माफी भी मांगी है, इसके साथ ही रुस के नामी स्पोर्ट्स वियर ब्रांड ने अपने अगले कैम्पेन के लिये बतौर मॉडल उन्हें चुना है, कहा जा रहा है कि एक तस्वीर ने नादिया की जिंदगी ही बदल दी।

Related Articles

- Advertisement -spot_img

Latest Articles