हैदराबाद पुलिस कमिश्नर ने बताई पूरी बात, क्यों चलानी पड़ी गोली? वीडियो

0
24
Loading...

वीडियो देखने के लिये नीचे जाएं
पुलिस ने प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि हमने इस मामले में चारों आरोपियों के खिलाफ ठोस सबूत इकट्ठे किये थे, इसके बाद उन्हें गिरफ्तार किया।

हैदराबाद सामूहिक दुष्कर्म केस में पुलिस एनकाउंटर में मारे गये आरोपियों को लेकर तेलंगाना पुलिस ने इस पूरे घटनाक्रम की जानकारी शुक्रवार को प्रेस कांफ्रेंस के माध्यम से दी, साइबराबाद पुलिस कमिश्नर वी सज्जनार ने कहा कि 27-28 नवंबर की रात युवती के साथ दुष्कर्म हुआ फिर आरोपियों ने उसे जिंदा जला दिया, पहले आरोपियों ने सामूहिक दुष्कर्म किया, फिर पेट्रोल डालकर जिंदा जला दिया।

कई मामलों में आरोपी
पुलिस ने प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि हमने इस मामले में चारों आरोपियों के खिलाफ ठोस सबूत इकट्ठे किये थे, इसके बाद उन्हें गिरफ्तार किया, कोर्ट ने हमें 10 दिन के लिये कस्टडी दी थी, हमने आरोपियों का डीएनए टेस्ट भी किया है, ये सभी आरोपी कर्नाटक-तेलंगाना में कई मामलों में आरोपी थे।

Loading...

भागने की कोशिश
पुलिस ने बताया कि रिमांड के चौथे दिन हम उन्हें लेकर घटनास्थल पर पहुंचे, हमें मौके से और सबूत इक्ट्ठे करने थे, लेकिन घटनास्थल पर पहुंचने के बाद उन्होने पुलिसकर्मियों पर हमला बोल दिया, हमारे दो हथियार छीने गये थे, जिसके बाद पुलिस को आरोपियों पर फायरिंग करनी पड़ी, चारों आरोपियों की मौत गोली लगने की वजह से हुई है, आरोपियों के साथ हमारी मुठभेड़ हुई, जिसमें एक एसआई और कांस्टेबल भी घायल है, उनका इलाज जारी है।

ऐसे हुआ एनकाउंटर
साइबराबाद पुलिस कमिश्नर वी सज्जनार ने बताया कि जब हम घटनास्थल पर पहुंचे थे, तो ये एनकाउंटर सुबह 5.30 से 6.15 के बीच हुआ है, 4 में से एक आरोपी ने पुलिस से पिस्तौल छिनी और फायरिंग शुरु कर दी, इसके बाद बाकी तीनों पत्थर लेकर खड़े हो गये, इस फायरिंग मे दो पुलिस वाले घायल हो गये, मौके पर 15 पुलिसकर्मी मौजूद थे, उन्होने आरोपियों पर फायरिंग शुरु कर दी, जिसमें गोली लगने से चारों की मौत हो गई।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here