Friday, April 23, 2021

पति की हत्या के बाद सपना दीदी ने खाई थी दाऊद को मारने की कसम, कहानी डॉन से पंगा लेने वाली गैंगस्टर की!

अशरफा की जिंदगी में भूचाल तब आया, तब दुबई से वापस आते समय मुंबई एयरपोर्ट पर पुलिस ने महमूद कालिया का एनकाउंटर कर दिया, पति की मौत से अशरफा खान बेचैन हो उठी।

आज हम जिस महिला गैंगस्टर की क्राइम कुंडली बताने जा रहे हैं, उसके बारे में सबसे पहले आपको बता दें कि उसने अंडरवर्ल्ड डॉन दाउद इब्राहिम को मारने की कसम खाई थी, जी हां, हम बात कर रहे हैं अशरफा खान, एक समय था जब अशरफा खान को जुर्म की दुनिया में सपना दीदी के नाम से जाना जाता था, अशरफा खान का जन्म कब हुआ, इस बारे में पुख्ता जानकारी मौजूद नहीं है, बताया जाता है कि अशरफा खान एक सामान्य परिवार से ताल्लुक रखती थी, और उसने महमूद कालिया नाम के एक युवक से शादी रचाई थी, महमूद कालिया दाऊद के लिये काम करता था, सालों तक महमूद ने दाउद के लिये कई जुर्म किये, शादी के बाद कभी भी अशरफा ने ये जानने की कोशिश नहीं की, कि उनका पति कहां और किसके लिये काम करता है, बताया जाता है कि पांच साल तक इस कपल की जिंदगी आराम से कटती रही।

पति का एनकाउंटर
अशरफा की जिंदगी में भूचाल तब आया, तब दुबई से वापस आते समय मुंबई एयरपोर्ट पर पुलिस ने महमूद कालिया का एनकाउंटर कर दिया, पति की मौत से अशरफा खान बेचैन हो उठी, उस्मान नाम के एक शख्स ने अशरफा को बताया कि दाउद ने ही उसके पति की हत्या करवाई है, अशरफा को पता चला कि उसका पति दाउद के लिये काम करता था, और जब उसने डॉन के लिये काम करने से मना कर दिया, तो उसकी हत्या करवा दी।

अशरफा बन गई सपना दीदी
बस यहीं से शुरु हुई अशरफा खान के सपना दीदी बनने की कहानी, अशरफा ने दाउद को मारने की कसम खाई, उस्मान से सपना दीदी ने गैंगस्टर बनने की ट्रेनिंग ली, इस दौरान हथियार चलाने तथा सेल्फ डिफेंस के कई गुर सपना ने उस्मान से सीखे, उस समय मुंबई में दाउद का सबसे बड़ा दुश्मन अरुण गवली था, अशरफा खान ने अरुण गवली से मिलकर दाउद को खत्म करने के लिये मदद मांगी, लेकिन अरुण ने मना कर दिया, फिर अशरफा ने अपना नाम बदलकर सपना दीदी कर लिया, और जुर्म के रास्ते पर चल पड़ी।

दाउद के गुर्गों को मरवा दिया
सपना दीदी कई गैर कानूनी धंधों में लिप्त हो गई, इस दौरान वो पुलिस को दाउद के गुर्गों के बारे में जानकारी देने लगी, सपना की जानकारी पर दाउद को कई गुर्गे या तो पकड़े गये या फिर मारे गये, दाउद के जुएं के कारोबार को भी सपना दीदी ने काफी हद तक बंद करवा दिया था, हालांकि उस समय तक खुद सपना दीदी भी मुंबई पुलिस के रडार पर आ गई थी, पुलिस ने कई बार उससे सरेंडर करने को भी कहा, लेकिन सपना ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण से मना कर दिया।

दाउद ने करा दी हत्या
बताया जाता है कि दाउद से बदला लेने की आग में जल रही सपना दीदी उसे मारने के लिये शारजहां तक पहुंच गई, जहां सपना ने अपने कुछ साथियों की मदद से दाउद को ठिकाने लगाने की पूरी योजना बना ली थी, योजना के अनुसार दाउद शारजहां में एक क्रिकेट मैच देखने आने वाला था, इसी दौरान उसकी हत्या की तैयारी की गई थी, इत्तेफाक से दाउद को सपना की इस चाल का पहले ही पता चल गया, कहा जाता है कि इसके बाद दाउद ने अपने गुर्गों की मदद से सपना का कत्ल करवा दिया।

Read Also – मलाइका से लेकर शिल्पा शेट्टी तक, ये एक्ट्रेसेज हो चुकी हैं Oops मोमेंट का शिकार!

Related Articles

- Advertisement -spot_img

Latest Articles