पति को रास्ते से हटाने के लिये प्रेमी संग मिलकर रची साजिश, सन्न कर देगा लव ट्राएंगल

0
78
Loading...

साबिर अली ने बताया कि दिलशाद की पत्नी बिलकिस से उसके सात साल से शारीरिक संबंध थे, पहले दिलशाद परिवार के साथ पंचकुइयां इलाके में ही रहता था।

दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच टीम ने दस दिनों के भीतर एक केस सुलझाया है, दरअसल द्वारका सेक्टर 14 इलाके में कुछ दिन पहले सुंदर नगरी निवासी मोहम्मद दिलशाद की हत्या हुई थी, पुलिस ने इस मामले में मृतक की पत्नी और उसके प्रेमी को गिरफ्तार किया है, बताया जा रहा है कि पत्नी और प्रेमी ने मिलकर उनकी हत्या की साजिश रची थी, आइये विस्तार से बताते हैं कि पूरा मामला क्या है।

पत्नी और प्रेमी ने रची साजिश
अपराध शाखा के डीसीपी राजेश देव ने जानकारी दी, कि 29 दिसंबर को सुंदर नगरी निवासी महिला बिलकिस ने नंद नगरी थाने में अपने पति मोहम्मद दिलशाद की गुमशुदगी रिपोर्ट दर्ज कराई थी, स्थानीय पुलिस के साथ-साथ क्राइम ब्रांच की टीम उसकी तलाश में जुट गई, तभी जांच में पता चला कि दिलशाद की हत्या उसकी पत्नी ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर करवाई है, पुलिस ने 9 जनवरी को दोनों को गिरफ्तार कर लिया।

सात साल से अवैध संबंध
पूछताछ में आरोपित साबिर अली ने बताया कि दिलशाद की पत्नी बिलकिस से उसके सात साल से शारीरिक संबंध थे, पहले दिलशाद परिवार के साथ पंचकुइयां इलाके में ही रहता था, दोनों पड़ोसी थे, इसी दौरान दिलशाद की पत्नी और साबिर का अवैध संबंध हो गया, जब दिलशाद को इस बात का पता चला, तो वहां से सुंदर नगरी रहने चला आया, हालांकि साबिर और बिलकिस मिलते रहे, जिसका दिलशाद विरोध करता था, साबिर से संबंध रखने की वजह से दिलशाद पत्नी को गाली-गलौच और पीटता था, जिसके बाद बिलकिस और साबिर ने मिलकर उसकी हत्या की योजना बनाई।

1 लाख में सुपारी
साबिर ने हत्या के लिये 1 लाख रुपये में रोहित को सुपारी दी, 29 दिसंबर को शादी पंडाल में पान की दुकान लगाने की बात कहकर उसने दिलशाद को द्वारका बुलाया, फिर रास्ते में सुनसान जगह पर रोहित और साबिर ने मिलकर तार से उसका गला घोंट दिया, फिर सूए से वार किये, जिसमें उसकी मौत हो गई, पुलिस ने साबिर के पास से दिलशाद का फोन और दूसरी चीजें बरामद की है, तीसरा आरोपित रोहित फरार है।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here