Friday, April 23, 2021

विदेश में बर्तन धोते थे, देश लौटकर शुरु किया अपना नाम, कमा रहे लाखों रुपये!

बिजल को नौकरी नहीं मिलने की वजह से वो केन्या चले गये थे, वहां उन्होने एक होटल में बर्तन धोने तथा सब्जियां काटने का काम किया।

वड़ोदरा के रहने वाले बिजल दवे एक पिज्जा रेस्टोरेंट चलाते हैं, जहां 45 तरह के पिज्जा बनाये जाते हैं, अपने इस काम से वो हर महीने करीब दो लाख रुपये कमा लेते हैं, कंप्यूटर इंजीनियरिंग में डिप्लोमा करने वाले दवे 5 लोगों को रोजगार दे रहे हैं, हालांकि यहां तक पहुंचने के लिये उन्हें काफी संघर्ष करना पड़ा है।

केन्या गये थे
दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के मुताबिक बिजल को नौकरी नहीं मिलने की वजह से वो केन्या चले गये थे, वहां उन्होने एक होटल में बर्तन धोने तथा सब्जियां काटने का काम किया, वहां काम करते हुए उनकी पहचान एक इटालियन कस्टमर से हुई, जिसने उन्हें कांगो में अपने पिज्जा रेस्टोरेंट में नौकरी की पेशकश की।

पिज्जा बनाना सीख लिया
वहां उन्होने पिज्जा बनाना भी सीख लिया, इसके बाद उन्होने पार्टनरशिप में अपनी खुद की पिज्जा की दुकान खोली, लेकिन कांगो उपद्रवियों का केन्द्र था, एक बार उन्होने उनकी पूरी दुकान ही जला डाली, जिसके बाद उन्होने देश वापस लौटकर कुछ काम करने का फैसला लिया। मार्च 2019 में वड़ोदरा लौट आये, वो वापस इटालियन पिज्जा बनाने की कला के साथ लौटे थे, इसलिये उन्होने पिज्जा दुकान खोलने का फैसला लिया।

काम चल पड़ा
कम पैसों के चलते उन्होने अपनी बिल्डिंग कंपाउंड के खुले स्थान में ग्लस्टोस पेजेरिया नाम से एक रेस्त्रां खोला, उनका ये काम चल पड़ा, आज वो पांच लोगों को रोजगार भी दे रहे हैं, उनका यकीन है कि जल्द ही उनकी शहर के कई दूसरे इलाकों में भी फ्रेंचाइजी होगी।

Read Also – बिहार का बदनाम शहर, जहां खुलेआम ग्राहकों के इंतजार में खड़ी रहती हैं लड़कियां!

Related Articles

- Advertisement -spot_img

Latest Articles