सुनील ने बताया कि अचानक पिता के चले जाने की वजह से उसका पूरा घर बर्बाद हो गया था, भर पेट भोजन भी नहीं मिल पा रहा है।

कहावत है कि मेहनत करने वालों का भगवान भी साथ देते हैं, ठीक ऐसा ही हुआ बिहार के बगहा में रहने वाले यतीम सुनील के साथ, दरअसल बीते 25 जनवरी को सुनील को लेकर एक शख्स ने फेसबुक पर मार्मिक पोस्ट लिखा था, जिसके बाद इस बच्चे की मदद के लिये कई हाथ आगे आये और इस बच्चे की जिंदगी संवारने की कोशिश शुरु हो गई, कल तक सड़क किनारे पकौड़ी बेचने वाला सुनील अब स्कूल जाने लगा है।

पिता की मौत
दरअसल सुनील के पिता राजन की 5 महीने अचानक निधन हो गया, वो परिवार में एक मात्र कमाने वाले शख्स थे, उनके सहारे 5 बच्चे, पत्नी और एक वृद्ध मां की जिम्मेदारी थी, लेकिन अचानक गुजर जाने की वजह से पूरा परिवार भूखमरी की कगार पर पहुंच चुका था, जिसके बाद 9 वर्षीय सुनील ने स्टेशन के पास पकौड़ी बेचकर किसी तरह घर चलाने की कोशिश की, इसके लिये उसने अपनी पढाई लिखाई भी छोड़ दी।

सब कुछ खत्म हो गया
सुनील ने बताया कि अचानक पिता के चले जाने की वजह से उसका पूरा घर बर्बाद हो गया था, भर पेट भोजन भी नहीं मिल पा रहा है, जिसके बाद मैंने लाचारी में पिता की जिम्मेदारी संभालने की कोशिश की, स्टेशन के पास ठेला पर पकौड़ी बेचने लगा, ताकि कम से कम घर वालों को भोजन मिले।

मदद को आगे आये लोग
इस बीच एक व्यक्ति ने 9 वर्षीय सुनील पर तरस खाकर उसकी तस्वीर फेसबुक पर पोस्ट कर दी, जिसके बाद उसे मदद के लिये ऑफर मिलने लगे, किसी ने उनकी पढाई की जिम्मेदारी संभाली, तो किसी ने परिवार के भरण-पोषण के लिये मदद की, सुनील फिर से स्कूल जाने लगा है, उसने कहा कि पिता मुझे पढाना चाहते थे, लेकिन नियति को कुछ और ही मंजूर था, अब फेसबुक पोस्ट की वजह से मैं फिर से स्कूल जाने लगा हूं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here