अमेरिकी संसद के अनुसार सांसदों के इस समझौते पर आपत्ति जताने की संभावना नहीं है, क्योंकि डेमोक्रेटिक हो या रिपब्लिकन पार्टी, दोनों इजरायल का जबरदस्त समर्थन करती है।

इजरायल-फिलिस्तीन के बीच पिछले 10 दिनों से जारी संघर्ष के बीच आम लोगों की जिंदगी बदहाल हो गई है, इजरायल के हवाई हमले में गाजा की इकलौती कोविड टेस्टिंग लैब बंद हो गई है, अधिकारियों का आरोप है कि इजरायल ने जानबूझकर इसे निशाना बनाया, इसी बीच अमेरिका के नये राष्ट्रपति जो बाइडेन ने इजरायल को करीब 5.4 हजार करोड़ रुपये के हथियार बेचने को मंजूरी दे दी है।

जबरदस्त समर्थन
अमेरिकी संसद के अनुसार सांसदों के इस समझौते पर आपत्ति जताने की संभावना नहीं है, क्योंकि डेमोक्रेटिक हो या रिपब्लिकन पार्टी, दोनों इजरायल का जबरदस्त समर्थन करती है, उधर अमेरिका के इस रवैये पर तुर्की भड़क गया है, वहां के राष्ट्रपति एर्दोगन ने बाइडेन का नाम लेते हुए कहा, आपने मुझे ये कहने के लिये बाध्य किया है, कि आप अपने खूनी हाथों से इतिहास लिख रहे हैं।

अरब देशों में फूट
इजरायल-फिलिस्तीन मामले पर अरब देशों में भी संशय है, इस्लामिक देशों के संगठन ओआईसी की बैठक में इजरायल को चेतावनी दी गई कि अलअक्सा मस्जिद पर कब्जे की कोशिश की, तो नतीजे भयानक होंगे, बैठक सऊदी ने बुलाई थी, लेकिन उसने खुद अमेरिकी जेट फाइटर्स को जमीन दी है, अमेरिका इसका इस्तेमाल इजरायल की मदद में कर सकता है।

जंग का खामियाजा
द न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार इस जंग का खामियाजा दोनों पक्षों को भुगतना पड़ रहा है, लेकिन हमास के कब्जे वाले गाजा पट्टी इलाके में हालात बदतर हो चुके हैं, यहां की 21 लाख की आबादी में से 11 लाख के पास पीने का पानी, टॉयलेट और बिजली जैसे बुनियादी सुविधाएं नहीं है। गाजा सिटी में 7 साल पहले बिजली, पानी, सीवेज के इंतजाम थे, एक वॉटर फिल्टर प्लांट तो 2.5 लाख लोगों की प्यास बुझाता था, आज सब तबाह हो चुका है, स्कूल या तो ध्वस्त हो चुके हैं, या बमबारी की वजह से बंद हैं, लिहाजा 6 लाख बच्चे घरों में बंद हैं, 40 हजार लोग रिफ्यूजी कैंप में हैं।

Read Also – पत्नी प्रेग्नेंट और नेतन्याहू के कदम बहक गये थे, अंग्रेज सुंदरी के इ्श्क में पागल हो गये थे इजरायल पीएम