युवराज की इस तूफानी पारी के बदौलत चंडीगढ ने मेघालय के खिलाफ 694 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया।

कर्नल सीके नायडू टूर्नामेंट में युवराज ने गेंदबाजों के होश उड़ा दिये, जी हां, हम बात कर रहे हैं चंडीगढ के बायें हत्था बल्लेबाज युवराज चौधरी की, जिन्होने खडगपुर में मणिपुर के खिलाफ शानदार दोहरा शतक लगाकर वाहवाही लूट ली, उन्होने सिर्फ 215 गेंदों में 230 रनों की पारी खेली, इस दौरान 8 छक्के और 14 चौके भी लगाये, युवराज की इस तूफानी पारी के बदौलत चंडीगढ ने मेघालय के खिलाफ 694 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया, मालूम हो कि मेघालय पहली पारी में सिर्फ 94 रनों पर सिमट गई थी।

युवराज ने दिखाया दम
चंडीगढ की टीम ने अपनी पहली पारी 2 विकेट पर 212 रनों से आगे खेलना शुरु की, 303 रन जाते-जाते 6 विकेट गंवा दिये, इसके बाद युवराज चौधरी और तरनप्रीत सिंह ने मोर्चा संभाला, दोनों ने सातवें विकेट के लिये 50 रनों की साझेदारी की, फिर अक्षित राणा के साथ आठवें विकेट के लिये 124 रन जोड़े, राणा ने 53 रन बनाये, इसके बाद भी युवराज ने एक छोर संभाले रखा, उन्होने 9वें विकेट के लिये हर्षित के साथ 188 रनों की साझेदारी की, युवराज 230 के स्कोर पर स्टंप आउट हुए।

युवराज सिंह से तुलना
मालूम हो कि 18 वर्षीय युवराज चौधरी को चंडीगढ टीम का युवराज सिंह कहा जाता है, उनकी खेलने की शैली भी पूर्व क्रिकेटर की तरह है, जैसे युवी लंबे -लंबे हिट्स खेलते थे, वैसे ही ये भी लंबे लंबे शॉट्स लगाते हैं, युवराज एक किसान परिवार से आते हैं, उनका बचपन उत्तराखंड के रुडकी में बीता है, लेकिन क्रिकेटर बनने की चाहत में वो चंडीगढ आ गये, यहां गुरसागर क्रिकेट एकेडमी में ट्रेनिंग लेते हैं।

ऑलराउंडर
Yuvraj चौधरी 2017 में अंतर जिला टूर्नामेंट में सुर्खियों में आये, जहां उन्होने 270 रन बनाये और साथ ही 37 विकेट भी लिये, युवराज पंजाब के लिये अंडर 14, 16 और 19 क्रिकेट खेल चुके हैं, इसके साथ ही उन्हें अंडर 19 इंडिया ए में भी जगह मिली है, वो लगातार अपने प्रदर्शन से सबका ध्यान खींच रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here