yogeshwar-dutt2

हिंदी न्यूज चैनल न्यूज 24 पर इंटरव्यू के दौरान एंकर संदीप चौधरी ने 2012 लंदन ओलंपिक के कांस्य पदक विजेता योगेश्वर दत्त से सवाल पूछते हुए कहा कि मेडल दिलाने में सरकार का कितना योगदान है।

पिछले साले रिकॉर्ड को ध्वस्त करते हुए टोक्यो ओलंपिक में भारत ने 7 मेडल जीता है, जैवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा ने स्वर्ण पदक जीतकर देश का सर गर्व से ऊंचा कर दिया है। देश में पहली बार इतनी संख्या में ओलंपिक मेडल आने के बाद खेलों को बढावा देने पर चर्चा शुरु हो गई है, इसी मुद्दे पर एक टीवी इंटरव्यू के दौरान जब एंकर ने ओलंपिक पदक विजेता योगेश्वर दत्त से मेडल में सरकार के योगदान को लेकर सवाल पूछा, तो उन्होने जवाब देते हुए कहा, आज प्रतिभाएं गांव में दम तोड़ रही है।

क्या था सवाल
हिंदी न्यूज चैनल न्यूज 24 पर इंटरव्यू के दौरान एंकर संदीप चौधरी ने 2012 लंदन ओलंपिक के कांस्य पदक विजेता योगेश्वर दत्त से सवाल पूछते हुए कहा कि मेडल दिलाने में सरकार का कितना योगदान है, जैसे आप रेसलिंग से रिटायर हो गये, आपको डीएसपी बना दिया गया, तो सरकार ने एहसान कर दिया क्या, ये सरकारें एहसान करती है क्या और उसके बाद भूल जाती है।

योगेश्वर का जवाब
संदीप चौधरी के इस सवाल के जवाब में ओलंपियन योगेश्वर दत्त ने कहा कि अगर हमें खेलों में महाशक्ति बनना है, तो जमीनी स्तर पर मजबूत ढांचा तैयार करना होगा, तभी मेडल बढेंगे, नहीं तो बस हम 5-7 मेडल तक ही सिमटते रहेंगे, खिलाड़ी अगर सीनियर, जूनियर इंडिया कैंप में पहुंच जाता है, तो उसे सभी तरह की सुविधाएं मिलती है, उसकी सारी चिंताएं दूर हो जाती है।

प्रतिभाएं दम तोड़ रही
योगेश्वर दत्त ने कहा कि वहां डॉक्टर, कोच और अच्छी प्रैक्टिस होती है, लेकिन आज बहुत सारे गांव ऐसे हैं, जहां ये सुविधाएं नहीं मिल पाती है, प्रतिभाएं गांव में ही दम तोड़ रही है, योगेश्वर दत्त ने ये भी कहा कि खिलाड़ियों के असफल होने के बाद उन पर भविष्य की भी तलवार लटकी रहती है, साथ ही आज भी कई खिलाड़ी चोट लगने और आर्थिक तंगी की वजह से गांव में ही पड़े हुए हैं। आपको बता दें कि टोक्यो ओलंपिक में भारत में 7 मेडल आये हैं, जैवलिन थ्रो में नीरज चोपड़ा ने गोल्ड मेडल हासिल किया है, मीराबाई चानू ने वेटलिफ्टिंग में और रवि दहिया को कुश्ती में सिल्वर मेडल मिला है, वहीं पीवी सिंधु ने बैडमिंटन, लवलीना ने बॉक्सिंग, बजरंग पुनिया ने फ्रीस्टाइल कुश्ती में और भारतीय हॉकी टीम को ब्रांज मेडल मिला है।

Read Also – गोल्ड जीतते ही नीरज चोपड़ा पर पैसों की बारिश, जानिये किसने क्या दिया?