वसीम जाफर ने टीम इंडिया के लिये 31 टेस्ट और 2 वनडे मैच खेले, टेस्ट क्रिकेट में उन्होने पाकिस्तान और वेस्टइंडीज के खिलाफ दोहरे शतक भी लगाये।

हाल ही में क्रिकेट से रिटायरमेंट का ऐलान करने वाले टीम इंडिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज वसीम जाफर ने दो दिग्गज राहुल द्रविड़ और वीवीएस लक्ष्मण को लेकर बड़ा बयान दिया है, उन्होने कहा कि मौजूदा दौर में क्रिकेटरों को सम्मान और पहचान तब मिलती है, जब वो तीनों प्रारुपों में सफल होते हैं, जाफर ने एक क्रिकेट वेबसाइट से बात करते हुए कहा कि आपको पहचान और सम्मान तभी मिलेगा, जब आप तीनों प्रारुप में कामयाब हैं, मैं ये नहीं कहता कि पुजारा का सम्मान नहीं है, लेकिन वो सिर्फ टेस्ट खेलते हैं, कोई दूसरा प्रारुप नहीं, अब समय बदल चुका हैं, मेरे समय में भी राहुल द्रविड़ और लक्ष्मण जैसे खिलाड़ियों को उनका श्रेय नहीं मिला।

तीनों फॉर्मेट वाले को ही पहचान
वसीम जाफर के मुताबिक आज का समय ऐसे खिलाड़ियों का है, जो तीनों प्रारुपों में खुद को ढाल ले, उन्होने कहा कि कोई भी खिलाड़ी किसी एक प्रारुप में खेलकर ज्यादा समय नहीं टिक सकता, आपको तभी पहचान और सम्मान मिलता है, जब आप तीनों प्रारुप के लिये फिट होते हैं, मैं ये नहीं कहता कहता कि पुजारा का सम्मान नहीं है, लेकिन जो उनका कद होना चाहिये, वो सम्मान नहीं मिलता, क्योंकि वो सिर्फ टेस्ट खेलते हैं बाकी प्रारुप नहीं।

आईपीएल पर साधा निशाना
आईपीएल पर हमला बोलते हुए जाफर ने कहा कि इस टी-20 लीग की वजह से घरेलू क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को उनका हक नहीं मिला, उन्होने ये भी कहा कि मुझे लगता है कि समय बदल चुका है, यहां तक कि मेरे खेलने के दौरान भी राहुल द्रविड़ और वीवीएस लक्ष्मण जैसे खिलाड़ियों को उनका श्रेय नहीं मिला, जिसने भी इन दोनों बल्लेबाजों के साथ खेला है, वो जानते हैं कि दोनों किस दर्जे के बल्लेबाज थे, लेकिन हमें समय के साथ चलना होगा, आजकल टी-20 क्रिकेट का जमाना है।

दुर्भाग्य से वापसी नहीं हो सकी
जाफर ने टीम इंडिया के लिये 31 टेस्ट और 2 वनडे मैच खेले, टेस्ट क्रिकेट में उन्होने पाकिस्तान और वेस्टइंडीज के खिलाफ दोहरे शतक भी लगाये, लेकिन सहवाग और गौतम गंभीर की जोड़ी की वजह से वो वापसी नही कर सके, इस पर जाफर ने कहा कि मुझे लगता है कि मेरे पास कई मौके थे, मैं उनके काफी करीब भी पहुंचा, लेकिन दुर्भाग्य से मेरी टीम में वापसी नहीं हो सकी, लेकिन मैं किस्मत को बहुत मानता हूं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here