मैच के बाद विराट कोहली ने कहा कि टीम के प्रमुख बल्लेबाजों का फ्लॉप होना, साथ ही किवी टीम के पुछल्ले बल्लेबाजों को सस्ते में आउट नहीं कर पाना हार का बड़ा कारण रहा।

वनडे सीरीज में 3-0 से हारने के बाद टीम इंडिया के फैंस को उम्मीद थी कि विराट सेना टेस्ट सीरीज में हिसाब बराबर करेगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ, पिछले 7 मैचों से लगातार जीतने वाली भारतीय टीम को वेलिंगटन में 10 विकेट से शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा, मुकाबले के बाद कप्तान विराट कोहली ने खुद ही हार की वजह बताई।

विरोधी गेंदबाजों पर दबाव नहीं बना पाये।
मैच के बाद विराट कोहली ने कहा कि टीम के प्रमुख बल्लेबाजों का फ्लॉप होना, साथ ही किवी टीम के पुछल्ले बल्लेबाजों को सस्ते में आउट नहीं कर पाना हार का बड़ा कारण रहा, विराट कोहली ने कहा कि मयंक अग्रवाल के अलावा सिर्फ रहाणे ही कुछ संघर्ष कर सकें, हम एक बल्लेबाजी यूनिट के तौर पर चुनौती नहीं दे सके, विरोधी गेंदबाजों पर दबाव बनाने में नाकाम रहे, अगर पहली पारी में हम 220-230 बना लेते, और उनके तीन विकेट सस्ते में आउट कर देते, तो मैच का परिणाम कुछ और हो सकता था, लेकिन ऐसा करने में हम नाकाम रहे, पहली पारी में हम काफी पिछड़ गये, जिसकी वजह से दूसरी पारी में हम पर काफी दबाव था।

पुछल्ले बल्लेबाजों ने पलटा मैच
विराट कोहली ने टीम इंडिया के गेंदबाजों की तारीफ की, उन्होने कहा कि उन्होने अच्छी शुरुआत दी, लेकिन किवी टीम के पुछल्ले बल्लेबाजों ने काफी परेशान किया, एक समय मेजबान टीम 225 पर 7 विकेट गंवा चुकी थी, लेकिन आखिरी के तीन बल्लेबाजों ने 123 रन जोड़ दिये, जिससे किवीयों को 183 रनों की बड़ी बढत मिल गई, विराट ने कहा कि इसका मतलब ये नहीं है कि हम गेंदबाजों को इस हार का कारण समझें, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कुछ भी हो सकता है।

पृथ्वी का बचाव
कप्तान ने दोनों पारियों में फ्लॉप रहने वाले सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ का भी बचाव किया, उन्होने कहा कि पृथ्वी अभी घर से बाहर सिर्फ दो ही मैच खेले हैं, वो अच्छे बल्लेबाज हैं और रन बनाने की राह खोल लेंगे, मयंक अग्रवाल ने दोनों पारियों में अच्छी बल्लेबाजी की, वो और रहाणे ऐसे बल्लेबाज हैं, जो कुछ ही समय में लय हासिल कर सकते हैं, हालांकि हम एक मजबूत बल्लेबाजी यूनिट के तौर पर खेलने में असफल रहे, अब सीरीज का अगला टेस्ट मैच 29 फरवरी से खेला जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here