मजदूरी कर बनवाई पिच, प्रेरणादायी है इस युवा की कहानी, अब बना विश्वकप के सबसे सफल गेंदबाज

0
135
Loading...

युवा लेग स्पिनर के टैलेंट को अब पूरी दुनिया सलाम कर रही है, आईपीएल ऑक्शन में उनके नाम पर जबरदस्त बोली लगी।

दक्षिण अफ्रीका में खेले गये अंडर 19 विश्वकप के फाइनल मुकाबले में टीम इंडिया को बांग्लादेश ने हरा दिया, हालांकि भारतीय लेग स्पिनर रवि बिश्नोई ने इस टूर्नामेंट में अपनी अलग छाप छोड़ी, उन्होने 6 मैचों में 17 विकेट हासिल किये, जिसके साथ ही वो टूर्नामेंट के सबसे सफल गेंदबाज रहे, हालांकि रवि के लिये यहां तक का सफर आसान नहीं रहा है, अंडर 19 टीम में आने के लिये, क्रिकेट खेलने के लिये उन्हें मजदूरी तक करनी पड़ी है।

मजदूरी कर बनें क्रिकेटर
सरकारी स्कूल के अध्यापक के घर पैदा हुए रवि बिश्नोई के घर पर क्रिकेट को लेकर कोई उत्साह नहीं था, हालांकि वो अपने भाई के साथ रोजाना क्रिकेट खेलने जाते थे, लेकिन पिता के घर लौटने से पहले दोनों भाई वापस घर आ जाते थे, जिसके बाद रवि के दो दोस्त शाहरुख पठान और प्रद्योत सिंह ने क्रिकेट एकेडमी खोलने का फैसला लिया, ताकि रवि को प्रैक्टिस करने का मौका मिल सके, लेकिन उनके पास पैसे नहीं थे, इसलिये इन बच्चों ने मजदूरी करना शुरु किया, ताकि किसी तरह एकेडमी शुरु हो जाए, रवि ने एकेडमी बनाने के लिये कंधे पर सिमेंट के बोरे लादे, यहां तक की पत्थर तोड़े, ताकि कुछ पैसे बचाया जा सके, फिर इन लोगों ने सिमेंटेड पिच तैयार किया।

काफी मुश्किल समय
रवि बिश्नोई ने एक इंटरव्यू में बताया कि वो 6 महीने का समय मेरे लिये बहुत मुश्किल था, क्योंकि मुझे नहीं पता था कि मुझे मेहनत का फल मिलेगा या नहीं, एकेडमी तैयार हुई, वहां से मेरा क्रिकेट का असली सफर शुरु हुआ, राजस्थान अंडर 16 फिर अंडर 19 ट्रायल में मेरा चयन नहीं हुआ, फिर अंडर 19 में दूसरी बार ट्रायल दिया, जिसमें मेरा चयन हो गया, रवि ने पिछले साल सितंबर में वीनू मांकड़ ट्रॉफी में राजस्थान की ओर से डेब्यू किया, इसके बाद पलटकर नहीं देखा, उन्हें अंडर 19 टीम इंडिया से बुलावा आ गया, फिर विश्वकप टीम में जगह मिल गई।

आईपीएल में किंग्स इलेवन ने खरीदा
युवा लेग स्पिनर के टैलेंट को अब पूरी दुनिया सलाम कर रही है, आईपीएल ऑक्शन में उनके नाम पर जबरदस्त बोली लगी, अंत में किंग्स इलेवन पंजाब ने उन्हें 2 करोड़ की कीमत में खरीदा, रवि आईपीएल के लिहाज से शानदार गेंदबाज माने जा रहे हैं, क्योंकि उनकी लाइन लेंथ दूसरे स्पिन गेंदबाजों से अलग है, वो गेंदबाजी भी आम स्पिनरों से तेज करते हैं।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here