मंगलवार को न्यूजीलैंड टेस्ट सीरीज के लिये टीम इंडिया का ऐलान किया गया, उम्मीद की जा रही थी कि राहुल वापसी करेंगे।

न्यूजीलैंड की धरती पर टी-20 सीरीज में क्लीन स्वीप करने के बाद पूरी दुनिया में टीम इंडिया का डंका बज रहा है, हर कोई भारतीय खिलाड़ियों की तारीफ कर रहा है, लेकिन भारतीय चयनकर्ताओं ने स्टार बल्लेबाज केएल राहुल के साथ नाइंसाफी कर दी, दरअसल इस जीत के हीरो रहे राहुल को मैन ऑफ द मैच चुना गया, लेकिन चयनकर्ताओं ने इस स्टाइलिश बल्लेबाज को टेस्ट टीम में मौका नहीं दिया।

राहुल के साथ नाइंसाफी ?
मंगलवार को न्यूजीलैंड टेस्ट सीरीज के लिये टीम इंडिया का ऐलान किया गया, उम्मीद की जा रही थी कि राहुल वापसी करेंगे, रोहित के चोटिल होने के बावजूद राहुल को टेस्ट टीम में मौका नहीं दिया गया, उनकी जगह युवा बल्लेबाज शुभमन गिल पर भरोसा जताया गया है, गिल ने इंडिया ए की ओर से खेलते हुए न्यूजीलैंड ए के खिलाफ दोहरा शतक लगाया था जिसका उन्हें इनाम दिया गया है।

सीमित ओवरों में शानदार खेल
केएल राहुल ने अपना आखिरी टेस्ट मैच पिछले साल अगस्त में वेस्टइंडीज दौरे पर खेला था, जिसके बाद उन्हें टीम से बाहर कर दिया गया, हालांकि वो वनडे और टी-20 में खूब रन बना रहे हैं, लेकिन इसके बावजूद उन्हें टेस्ट टीम में मौका नहीं दिया जा रहा है, राहुल ने पिछले एक साल में 16 वनडे मैचों में 47.86 के औसत से 718 रन बनाये हैं, जिसमें 2 शतक और चार अर्धशतक भी शामिल है।

नई भूमिका
ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज में विकेटकीपर ऋषभ पंत चोटिल हो गये, जिसके बाद राहुल ने विकेटकीपिंग की जिम्मेदारी संभाली, राहुल ने राजकोट वनडे में दो कैच और एक बेहतरीन स्टंप किया, जिसके बाद विराट कोहली ने इशारों में संकेत दे दिये हैं कि सीमित ओवरों में राहुल ही टीम के विकेटकीपर होंगे, क्योंकि उनके इस जिम्मेदारी संभालने से एक अतिरिक्त बल्लेबाज या गेंदबाज खिलाने का मौका मिल जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here