टी-20 विश्वकप का खिताबी भिड़त रविवार 8 मार्च को मेलबर्न में खेला जाना है, मौसम विभाग के मुताबिक रविवार को मेलबर्न में आसमान खुला रहने का अनुमान है।

भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने पहली बार इतिहास रचते हुए टी-20 वर्ल्ड कप के फाइनल में जगह बना ली है, दरअसल भारत और इंग्लैंड के बीच खेला जाने वाला सेमीफाइनल बारिश की भेंट चढ गया, जिसकी वजह से ग्रुप चरण में अंक तालिका में टॉप पर रहने के आधार पर हरमनप्रीत की टीम को फाइनल का टिकट दे दिया गया, आपको बता दें कि ग्रुप ए की अंक तालिका में भारतीय टीम ने 4 मैचों में जीत हासिल की थी, जिससे उनके 8 अंक थे, ग्रुप बी की टीम इंग्लैंड 4 मैचों में से 3 जीत और 1 हार के साथ 6 अंक थे, इसी आधार पर भारतीय टीम को फाइनल में जगह मिली।

सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन
मालूम हो कि भारतीय टीम पहली बार टी-20 विश्वकप के फाइनल में पहुंची है, इससे पहले उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन सेमीफाइनल में पहुंचना था, साल 2018 में भी टीम इंडिया सेमीफाइनल में पहुंची थी, लेकिन तब इंग्लैंड ने हराकर टीम को भेजा था, इस बार भी दोनों टीमों की भिड़ंत होनी थी, लेकिन बारिश की वजह से अंग्रेज टीम खुद ही बाहर हो गई।

10-10 ओवर का मैच
सेमीफाइनल को देखने के लिये बड़ी संख्या में दर्शक जुटे थे, लेकिन सुबह से ही बारिश जारी रही, कुछ देर के लिये बारिश रुकी, लेकिन मैदान गीली होने की वजह से मैच चालू नहीं कराया जा सका, आयोजकों ने कोशिश की, कि कम से कम 10-10 ओवरों का ही मैच हो जाए, लेकिन संभव नहीं हो सका, जिसके बाद मैच रद्द की घोषणा कर दी गई।

फाइनल पर क्या होगा बारिश का असर
आपको बता दें कि टी-20 विश्वकप का खिताबी भिड़त रविवार 8 मार्च को मेलबर्न में खेला जाना है, मौसम विभाग के मुताबिक रविवार को मेलबर्न में आसमान खुला रहने का अनुमान है, राहत की बात ये है कि फाइनल के लिये रिजर्व डे भी रखा गया है, यानी अगर बारिश ने खलल डाला, तो फिर सोमवार को मैच खेला जाएगा, अगर सोमवार को भी खेल नहीं हो पाया, तो फाइनल में पहुंची दोनों टीमों को संयुक्त विजेता घोषित कर दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here