गुरु की बेटी पर आ गया था सुरेश रैना का दिल, पत्नी ने गरीबों बच्चों के लिये छोड़ दी लाखों की नौकरी

0
84

इंजीनियरिंग करने के बाद प्रियंका नीदरलैंड में बैंकिग सेक्टर में काम करती थी, उन्होने इंजीनियरिंग करने के बाद आईटी प्रोफेशनल के रुप में अपना करियर शुरु किया, लाखों रुपये में सैलरी पाती थी।

टीम इंडया तथा चेन्नई सुपरकिंग्स के धाकड़ बल्लेबाज सुरेश रैना इन दिनों क्रिकेट में वापसी के लिये तैयारी कर रहे हैं, सोशल मीडिया पर उनके वीडियो खूब वायरल हो रही है, हाल ही में टीम इंडिया के युवा विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत के साथ प्रैक्टिस करते नजर आये थे, रैना को मिस्टर आईपीएल भी कहा जाता है, गेंदबाजों के पसीने छुड़ा देने वाले रैना ने इंजीनियरिंग कर चुकी लड़की प्रियंका चौधरी के प्यार में क्लीन बोल्ड हो गये थे, दोनों ने 3 अप्रैल 2015 को शादी की थी।

दिलचस्प है लव स्टोरी
सुरेश रैना की लव स्टोरी काफी पुरानी है, वैसे तो रैना का परिवार मूल रुप से जम्मू-कश्मीर का रहने वाला है, उनके पिता त्रिलोकचंद रैना सेना में थे, वहीं प्रियंका के पिता सतपाल शर्मा मुरादनगर के एक कॉलेज में शिक्षक होने के साथ-साथ स्पोर्ट्स टीचर भी थे, कहा जाता है कि रैना ने बचपन में उनसे ही ट्रेनिंग ली थी, प्रियंका के घर का नाम गुड्डन है, कहा जाता है कि दोनों उसी समय से दोस्त हैं, बाद में दोनों की दोस्ती प्यार में तब्दील हो गई, फिर घर वालों ने 2015 में दोनों की शादी करा दी।

नीदरलैंड में नौकरी
इंजीनियरिंग करने के बाद प्रियंका नीदरलैंड में बैंकिग सेक्टर में काम करती थी, उन्होने इंजीनियरिंग करने के बाद आईटी प्रोफेशनल के रुप में अपना करियर शुरु किया, लाखों रुपये में सैलरी पाती थी, लेकिन फिर शादी के बाद पति के साथ रहने के लिये उन्होने नौकरी छोड़ दी, दोनों ने बेटी ग्रेसिया के नाम से एक चैरिटी फाउंडेशन बनाया, ये गरीब मांओ और बच्चों की शारीरिक तथा मानसिक समस्या दूर करने में मदद करता है, प्रियंका महिलाओं को प्रेग्नेंसी के समय खान-पान को लेकर जागरुक करती हैं।

2005 में करियर शुरु
सुरेश रैना का इंटरनेशनल क्रिकेट की शुरुआत 2005 में हुई, राहुल द्रविड़ की कप्तानी में श्रीलंका के खिलाफ उन्होने डेब्यू किया, लेकिन पहले ही मैच में मुरलीधरन ने उन्हें पहली ही गेंद पर जीरो पर आउट कर दिया, हालांकि इसके बाद उन्होने जबरदस्ती वापसी की, लेकिन पिछले दो साल से रैना टीम इंडिया से बाहर हैं, उन्होने आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच इंग्लैंड के खिलाफ जुलाई 2018 में खेला था, वो 18 टेस्ट, 226 वनडे और 78 टी-20 मैच खेल चुके हैं।

Read Also – सचिन-सहवाग से लेकर विराट-रोहित तक नहीं तोड़ पाये हैं अगरकर का ये बल्लेबाजी रिकॉर्ड, वीडियो