अगर बीसीसीआई आईपीएल के बाकी मैचों को नहीं कराता, तो उसे करीब 25 सौ करोड़ रुपये का नुकसान होता।

बीसीसीआई ने भारत में कोविड-19 की स्थिति को देखते हुए आईपीएल 2021 को यूएई ट्रांसफर करने का फैसला लिया है, न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार शनिवार को बीसीसीआई की मीटिंग के बाद राजीव शुक्ला ने ये घोषणा की है। आइये आपको विस्तार से बताते हैं कि पूरा मामला क्या है।

अभी 31 मैच बाकी
आपको बता दें कि आईपीएल 2021 में कुल 60 मैच खेले जाने थे, जिसमें से 29 मैच हो चुके हैं, यानी अभी 31 मैच और खेले जाने है, अब ये बचे हुए मुकाबले भारत के बजाय यूएई में खेले जाएंगे। IPL बोर्ड ने अपने स्तर पर तैयारी शुरु कर दी है।

2500 करोड़ का नुकसान
अगर बीसीसीआई आईपीएल के बाकी मैचों को नहीं कराता, तो उसे करीब 25 सौ करोड़ रुपये का नुकसान होता, अभी तक बाकी बचे मैचों के शुरु होने की तारीखों का ऐलान नहीं किया गया है, ipl1 लेकिन सूत्रों का दावा है कि 18 सितंबर से लेकर 10 अक्टूबर के बीच बाकी बचे मैच खेले जा सकते हैं।

9 अप्रैल से शुरुआत
आईपीएल के 14वें सीजन की शुरुआत 9 अप्रैल को हुई, करीब 25 दिनों तक मैच खेले गये, लेकिन फिर एक के बाद एक अहमदाबाद और दिल्ली पहुंचने पर टीम के कई खिलाड़ी कोरोना संक्रमित पाये गये, पहले तो दो मैचों को टालने का फैसला लिया गया, फिर भी स्थिति नियंत्रण में नहीं आई, तो 3 मई को आईपीएल स्थगित करने का ऐलान किया गया।

Read Also – अश्विन ने अचानक इस साल आईपीएल छोड़ने का किया ऐलान, जानिये क्या है कारण?