IPL 2020- सामने आया माही का ‘मास्टर स्ट्रोक’, चेन्नई सुपरकिंग्स चौथी बार बनेगी चैंपियन!

0
31
csk

हमेशा की तरह इस बार फिर आईपीएल चैंपियन बनने की सबसे बड़ी दावेदार मुंबई इंडियंस और सीएसके ही होगी।

दुनिया की सबसे बड़ी क्रिकेट लीग आईपीएल 2020 के आगाज में अब सिर्फ एक हफ्ता ही रह गया है, 19 सितंबर से सभी टीमें मैदान पर उतरेंगी और चैंपियन बनने के लिये पूरी ताकत झोंक देगी, हमेशा की तरह इस बार फिर आईपीएल चैंपियन बनने की सबसे बड़ी दावेदार मुंबई इंडियंस और सीएसके ही होगी, वैसे दूसरी टीमें भी कम नहीं है, इस बार आरसीबी और किंग्स इलेवन भी दमखम दिखाने को तैयार है, दिल्ली के दबंग, हैदराबाद सनराइजर्स और राजस्थान रॉयल्स भी हल्ला मचाने को तैयार है, लेकिन इस सभी के बीच कप्तान धोनी ने मास्टरस्ट्रोक खेला है, जो उन्हें चौथी बार आईपीएल चैंपियन बना सकता है, आइये आपको माही के मास्टर स्ट्रोक के बारे में बताते हैं।

माही का मास्टर स्ट्रोक
धोनी के इस नये मास्टर स्ट्रोक का नाम है जोश हेजलवुड, जिन्हें कप्तान के कहने पर दिसंबर 2019 में हुई बोली के दौरान सीएसके ने 2 करोड़ के बेस प्राइस पर खरीदा था, ms dhoni सीएसके ने जब जोश हेजलवुड पर दांव लगाया था, तो सभी हैरान रह गये थे, क्योंकि ये कंगारु तेज गेंदबाज टेस्ट प्रारुप का खिलाड़ी माना जाता है, अपने देश के लिये भी हेजलवुड सीमित ओवरों में कम ही खेल पाते हैं, लेकिन इसके बावजूद धोनी ने इस खिलाड़ी को अपनी टीम में शामिल किया है, अब आईपीएल से पहले हेजलवुड ने अपना जलवा दिखा दिया है।

हेजलवुड ने की अंग्रेजों की बोलती बंद
ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज ने शुक्रवार को इंग्लैंड के किलाफ खेले गये पहले वनडे मुकाबले में दमदार प्रदर्शन किया है, उन्होने 10 ओवर में महज 26 रन देकर तीन विकेट हासिल किये हैं। जिस इंग्लैंड टीम के पास जॉनी बेयरस्टो, जेसन रॉय, ऑयन मॉर्गन, जोस बटलर जैसे तूफानी बल्लेबाज हैं, उस टीम के खिलाफ हेजलवुड ने तीन मेडन फेंके, उन्होने जेसन रॉय, जो रुट और मोइन अली का विकेट भी हासिल किया। नतीजा पहले मुकाबले में इंग्लैंड की टीम हार गई, हेजलवुड को उनकी दमदार गेंदबाजी के लिये मैन ऑफ द मैच चुना गया।

हेजलवुड पर माही ने क्यों किया भरोसा
अब आपको बताते हैं कि आखिर धोनी ने हेजलवुड पर भरोसा क्यों जताया है, हेजलवुड की ताकत है उनकी रफ्तार और बाउंस, हेजलवुड दुनिया के उन चुंनिदा गेंदबाजों में से एक हैं, जो पाटा से पाटा पिच पर अपने लिये मदद ढूंढ निकालते हैं, हेजलवुड की लाइन लेंग्थ इतनी गजब है कि उनकी तुलना अकसर ग्लेन मैक्ग्रा से होती है, हेजलवुड ने ऑस्ट्रेलिया के लिये सिर्फ 8 टी-20 मैच खेले हैं, उनके नाम 9 विकेट हैं, साथ ही इकॉनमी रेट भी 9.12 रन प्रति ओवर है, इसके बावजूद माही को उनमें एक्स फैक्टर नजर आता है, शायद इसी वजह से उन्होने उन्हें अपनी टीम में शामिल किया है।

Read Also – IPL 2020- आईपीएल शुरु होने से पहले धोनी की टीम को मिली खुशखबरी, वापस लौटा स्टार क्रिकेटर!