कभी खुद जान देने की सोचते थे मोहम्मद शमी, सुशांत को लेकर कही ऐसी बात, दोस्त काश!

0
38
sushant shami

मोहम्मद शमी ने कहा कि ये वही दौर था, जब लगा कि इससे अच्छा जिंदगी ही खत्म कर लूं, लेकिन मेरे परिवार ने उस दौर में ये सुनिश्चित किया, कि मैं कभी अकेला ना रहूं, हर समय कोई ना कोई मेरे आस-पास रहता था।

सुशांत सिंह राजपूत ने बीते रविवार को फांसी लगाकर जान दे दी, माना जा रहा है कि वो पिछले कुछ समय से डिप्रेशन की समस्या से जूझ रहे थे, सुशांत की मौत के बाद मेंटल हेल्थ जैसे गंभीर मुद्दे पर काफी चर्चा होने लगी, जो बहुत जरुरी भी है, कुछ भारतीय क्रिकेटर्स भी इस समस्या से जूझ चुके हैं, जिनमें तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी भी शामिल हैं, हालांकि निजी जिंदगी में उथल-पुथल के बावजूद शमी ने शानदार वापसी की। शमी ने कहा कि डिप्रेशन के दौरान उनके मन में बार-बार सुसाइड का विचार आता था, लेकिन परिवार और टीम के खिलाड़ियों ने सहारा दिया, जिससे वो उबर सके।

पत्नी ने लगाये थे आरोप
दरअसल दो साल पहले अपनी निजी जिंदगी की वजह से मोहम्मद शमी डिप्रेशन में आ गये थे, उनकी पत्नी हसीन जहां ने उन पर संगीन आरोप लगाये थे, उस दौर में शमी का नाम खूब उछला था, बीसीसीआई ने उन्हें कांट्रेक्ट से बाहर कर दिया था, हालांकि शमी ने हार नहीं मानी और खुद को साबित करने के लिये जीतोड़ मेहनत किया।

सुसाइड का विचार
शमी ने कहा कि ये वही दौर था, जब लगा कि इससे अच्छा जिंदगी ही खत्म कर लूं, लेकिन मेरे परिवार ने उस दौर में ये सुनिश्चित किया, कि मैं कभी अकेला ना रहूं, हर समय कोई ना कोई मेरे आस-पास रहता था, मुझसे बात करता था, हिंदुस्तान टाइम्स से बात करते हुए शमी ने बताया कि अध्यात्म भी आपको इससे निकलने में मदद कतरता है, आप अपने करीबियों से बात करें, काउंसलिंग बेहतर रास्ता है, शमी काफी अधिक डिप्रेशन में चले गये थे, लेकिन फिर उन्होने जबरदस्त वापसी की।

टीम ने दिया सहयोग
मोहम्मद शमी ने बताया कि उस मुश्किल दौर में टीम के साथी और कप्तान विराट कोहली ने उनकी भरपूर मदद की, शमी ने कहा कि टीम के खिलाड़ियों ने मैदान पर गुस्सा और हताशा को बाहर निकालने के लिये कहा, कप्तान कोहली ने काफी सपोर्ट किया, जिससे मैं सामान्य हो पाया।

काश कर पाता सुशांत से बात
शमी ने कहा कि डिप्रेशन एक ऐसी समस्या है, जिस पर ध्यान देने की आवश्यकता है, सुशांत जैसे बेहतरीन एक्टर को ऐसे कदम उठाते देखना बहुत ही दर्दनाक है, शमी ने कहा कि वो मेरे दोस्त थे, Sushant Singh Rajput45 काश मैं उनसे बात कर पाता, उनकी मानसिक स्थिति को समझ पाता, उन्हें इससे बाहर निकाल पाता।

Read Also – सुशांत सिंह राजपूत की मौत पर श्रीसंत का बड़ा बयान, नेपोटिज्म को दिया समर्थन