Sunday, April 18, 2021

भारत को मिला दूसरा अजहर?, लॉकडाउन में बदली किस्मत, लग सकती है करोड़ों की बोली!

केरल के इस मोहम्मद अजहरुद्दीन के भाई पूर्व कप्तान अजहरुद्दीन के जबरदस्त फैन थे, इसलिये उन्होने अपने भाई का नाम अजमल से अजहरुद्दीन कर दिया।

केरल के मोहम्मद अजहरुद्दीन ने सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में 13 जनवरी की रात इतिहास रचा था, वो इस टूर्नामेंट में 11 साल के इतिहास में सबसे तेज शतक लगाने वाले दूसरे बल्लेबाज बन गये हैं, इतना ही नहीं टी-20 मैचों में केरल की ओर से ये पहली सेंचुरी है, अजहर ने मुंबई के खिलाफ 9 चौके तथा 11 छक्के लगाये, जिसकी मदद से 54 गेंदों में नाबाद 137 रन ठोक दिये, अजहर ने 37 गेंदों में ही अपना शतक पूरा कर लिया, इस पारी के बाद उन्हें देश का दूसरा अजहर कहा जाने लगा है।

पूर्व कप्तान के नाम पर नाम
केरल के इस मोहम्मद अजहरुद्दीन के भाई पूर्व कप्तान अजहरुद्दीन के जबरदस्त फैन थे, इसलिये उन्होने अपने भाई का नाम अजमल से अजहरुद्दीन कर दिया, वो केरल के थलांगरा कासरगोड के रहने वाले हैं, 26 वर्षीय अजहर कुल 7 भाई हैं, उन्होने मुंबई जैसी मजबूत गेंदबाजी आक्रमण की धज्जियां उड़ा दी, इस पारी के बाद उनके बड़े भाई कमरुद्दीन ने कहा कि सिर्फ हम ही नहीं बल्कि पूरा थलांगरा उनकी बल्लेबाजी को देखने के लिय़े टीवी से चिपका हुआ था।

मुंबई के गेंदबाजों की पिटाई
मुंबई की गेंदबाजी आक्रमण में अनुभवी धवल कुलकर्णी के अलावा आईपीएल 2020 में चमकने वाले तुषार देशपांडे भी हैं, इसके बावजूद वो बिना डरे हुए खेले, उनके शॉट्स की तुलना स्टार बल्लेबाज रोहित शर्मा से की जाने लगी, केरल के कोच टिनू योहानन ने कहा कि मैंने उनसे ऐसी पारी की उम्मीद की थी, लेकिन इस तरह की विस्फोटक नहीं, उसने जिस तरह से स्क्वायर लेग पर शॉट लगाया, वो मुझे काफी पसंद आया, अजहर के सभी भाई कम से कम जिला स्तर पर क्रिकेट खेल चुके हैं, कमरुद्दीन ने कहा कि मैं 25 साल की उम्र में मिडिल ईस्ट में नौकरी कर रहा था, उस समय उसका जन्म हुआ था, वो हमारे परिवार में सबसे युवा है।

लॉकडाउन में बदली किस्मत
अजहर 15 साल की उम्र में कोट्टयम स्थित केरल क्रिकेट एसोसिएशन एकेडमी में गये थे, उनका सपना पहले फर्स्ट क्लास क्रिकेट खेलने का था, 6 सीजन पहले उन्हें केरल टीम में शामिल किया गया, ऐसे कहा जाने लगा कि दूसरा अजहर तैयार हो रहा है, हालांकि उन्होने 22 मैच में सिर्फ 25.91 के औसत से रन बनाये, 21 टी-20 मुकाबलों में उनका औसत 23.76 का रहा, कोच योहानन ने कहा कि वो लंबे शॉट लगाने वाला बल्लेबाज है, कई कारणों से उसे सही क्रम नहीं मिला, वो हमेशा 6ठें या सातवें नंबर पर खेलता रहा, ये उसके खेल के लिये ठीक नहीं था। कोरोना के कारण हुए लॉकडाउन में अजहर ने योहानन को फोन किया, तो उसने मुझसे बल्लेबाजी क्रम के बारे में पूछा, मेरे मन में उससे ओपनिंग कराने को लेकर कोई शंका नहीं थी, उसका दिमाग साफ है, इस शतकीय पारी के बाद अगले महीने होने वाले आईपीएल ऑक्शन में अजहर को लेकर टीमें आपस में भिड़ती नजर आ सकती है, उन पर बड़ी बोली लग सकती है।

Read Also – विराट कोहली के खिलाफ इमरान खान की जीत, ब्रेकिंग दिखा जबरदस्त ट्रोल हो रहे चैनल!

Related Articles

- Advertisement -spot_img

Latest Articles