milkha-singh-wife (1)

पीएम मोदी ने भारत के महान धावक मिल्खा सिंह के निधन पर शोक जताते हुए कहा, कि भारत ने ऐसा महान खिलाड़ी खो दिया, जिनसे जीवन के उदीयमान खिलाड़ियों को प्रेरणा मिलती रहेगी।

देश के महान फर्राटा धावक मिल्खा सिंह इस दुनिया में नहीं रहे, शुक्रवार 18 जून रात 11.30 बजे उन्होने आखिरी सांस ली, इससे 5 दिन पहले उनकी पत्नी और भारतीय वॉलीबॉल टीम की पूर्व कप्तान निर्मल कौर ने भी कोरोना की वजह से दम तोड़ दिया था, पद्मश्री मिल्खा सिंह 91 साल के थे, उनके परिवार में उनके बेटे जीव मिल्खा सिंह और 3 बेटियां है।

परिवार ने की पुष्टि
उनके परिवार ने बयान जारी कर बताया है कि मिल्खा सिंह ने रात 11.30 बजे आखिरी सांस ली, उनकी हालत शाम से ही खराब थी, बुखार के साथ ऑक्सीजन लेवल भी कम हो रहा था, उन्हें पिछले महीने कोरोना हुआ था, बुधवार को उनकी रिपोर्ट नेगेटिव आई थी, उन्हें जनरल आईसीयू में शिफ्ट कर दिया गया था, गुरुवार की शाम से पहले उनकी हालत स्थिर हो गई थी।

पत्नी का निधन
मिल्खा सिंह की पत्नी 85 साल की निर्मल कौर का रविवार को एक निजी अस्पताल में निधन हुआ था, 4 बार के एशियाई खेलों के स्वर्ण पद विजेता मिल्खा ने 1958 राष्ट्रमंडल खेलों में भी पीला तमगा हासिल किया है। उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन हालांकि 1960 के रोम ओलंपिक में था, जिसमें 400 मीटर दौड़ में वो चौथे स्थान पर रहे थे, उन्होने 1956 और 1964 ओलंपिक में भी भारत का प्रतिनिधित्व किया, उन्हें 1959 में पद्मश्री से नवाजा गया था।

मोदी ने जताया शोक
पीएम मोदी ने भारत के महान धावक मिल्खा सिंह के निधन पर शोक जताते हुए कहा, कि भारत ने ऐसा महान खिलाड़ी खो दिया, जिनसे जीवन के उदीयमान खिलाड़ियों को प्रेरणा मिलती रहेगी, उन्होने ट्विटर पर लिखा, मिल्खा सिंह जी के निधन से हमने एक महान खिलाड़ी को खो दिया, जिनका असंख्य भारतीयों के ह्दय में विशेष स्थान था, अपने प्रेरक व्यक्तित्व से वो लाखों के चहेते थे, मैं उनके निधन से आहत हूं।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Narendra Modi (@narendramodi)

Read Also – बाबा का ढाबा वाले कांता प्रसाद ने जान देने की कोशिश की, अस्पताल पहुंचे