केएल राहुल ने कहा कि मैं इससे आजिज हो चुका था, मैं झूठ नहीं बोलूंगा, मैं कुछ भी नहीं करना चाहता था।

पिछला साल जनवरी टीम इंडिया के स्टाइलिश बल्लेबाज केएल राहुल के लिये किसी बुरे सपने से कम नहीं था, लेकिन जनवरी 2020 सुनहरा ख्वाब साबित रहा है, एक साल में राहुल में काफी बदलाव आ गया है, दरअसल पिछले साल राहुल हार्दिक पंड्या के साथ करण जौहर के टॉक शो में पहुंचे थे, जहां पंड्या ने महिलाओं को लेकर आपत्तिजनक बयान दिया था, जिसके बाद बीसीसीआई ने दोनों ने ऑस्ट्रेलिया दौरे से वापस बुला लिया और सस्पेंड कर दिया था।

परिवार के लिये बुरा वक्त था
इस बारे में केएल राहुल ने पहली बार चुप्पी तोड़ी है, उन्होने एक मैग्जीन से बात करते हुए कहा कि तब हर कोई कह रहा था कि समय के साथ घाव भर जाएगा, लेकिन एक युवा होने के नाते आप ऐसा नहीं सोचते, मैंने इससे पहले दिसंबर 2018 और जनवरी 2019 में ऑस्ट्रेलिया में अच्छा प्रदर्शन नहीं किया था, मैं अंदर से खीझ गया था, मेरे परिवार के लिये भी ये बुरा वक्त था, माता-पिता समाज को लेकर चिंतित थे, क्योंकि उन्हें लगता था कि लोग क्या कहेंगे।

मैं कुछ नहीं करना चाहता था
केएल राहुल ने कहा कि मैं इससे आजिज हो चुका था, मैं झूठ नहीं बोलूंगा, मैं कुछ भी नहीं करना चाहता था, जो चीजें मुझे खराब वक्त से निकलने में मदद कर रही थी, उनमें ट्रेनिंग, क्रिकेट और गोल्फ था, अब एक साल बाद लोग कहते हैं कि समय के साथ सब ठीक हो जाएगा, या फिर जो होता है अच्छे के लिये होता है, तो फिर ये बातें सच्ची महसूस होती है, स्टाइलिश बल्लेबाज ने कहा कि मुझे व्यक्तिगत रुप से ऐसे झटके की जरुरत थी, ताकि मैं जाग सकूं, देख सकूं कि मुझे किस दिशा में आगे बढना है, मैंने महसूस किया कि क्रिकेट के अलावा किस चीज में अच्छा नहीं हूं, मैंने वही चुना जो मुझे चुनना चाहिये था, मेरा फोकस बेहतर हो गया, इसने मुझे और मजबूत और अनुशासित बनाया।

बीसीसीआई ने किया था निलंबित
कॉफी विद करण में हार्दिक पंड्या के आपत्तिजनक बयान देने के बाद दोनों क्रिकेटरों के खिलाफ बीसीसीआई ने कार्रवाई की थी, तब बोर्ड ने ऑस्ट्रेलिया में खेली जा रही वनडे सीरीज से पंड्या और राहुल को वापस बुला लिया था और मामले की जांच होने तक सस्पेंड कर दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here