मुस्लिम होकर भारत के लिये क्यों खेलते हो, इरफान ने पाक में दिया था शानदार जवाब, बजने लगी थी तालियां

0
74
Loading...

कॉलेज में एक लड़की खड़ी हुई और गुस्से में पठान से पूछा कि अगर वो मुस्लिम हैं, तो फिर भारत के लिये क्यों खेलते हैं, इस पर इरफान ने शांत स्वाभाव में जवाब दिया।

नागरिकता संशोधन कानून का कई जगहों पर विरोध हो रहा है, दिल्ली के जामिया नगर में उपद्रवियों और छात्रों पर पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा, जिस पर कुछ लोगों ने आपत्ति भी जताई और पुलिसिया कार्रवाई को गलत कहा। कई जानी-मानी हस्तियों ने इसकी आलोचना की, टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर इरफान पठान ने भी इस पर ट्वीट किया, जिसके बाद वो ट्रोलर्स ने निशाने पर आ गये, इरफान ने कहा कि वो इस देश के वासी हैं और उन्हें अपनी बात रखने का हक है, इस दौरान छोटे पठान ने पाक का एक किस्सा भी बताया, जहां उनके धर्म को लेकर सवाल पूछा गया था।

पूछा गया था सवाल
इरफान ने बताया कि साल 2004 में दोस्ताना सीरीज के लिये भारतीय टीम पाकिस्तान दौरे पर गयी थी, तब राहुल द्रविड़, पार्थिव पटेल और तेज गेंदबाज बालाजी के साथ वो लाहौर के एक कॉलेज में गये थे, जहां करीब 1500 छात्र-छात्राएं मौजूद थे, जो इन क्रिकटरों से बातचीत कर रहे हैं और सवाल पूछ रहे थे।

Loading...

भारत के लिये क्यों खेलते हो
कॉलेज में एक लड़की खड़ी हुई और गुस्से में पठान से पूछा कि अगर वो मुस्लिम हैं, तो फिर भारत के लिये क्यों खेलते हैं, इस पर इरफान ने शांत स्वाभाव में जवाब दिया, कि मैं भारतीय टीम के लिये खेलकर कोई एहसान नहीं कर रहा, भारत मेरा देश हैं, मैं वहां पैदा हुआ हूं, मेरे पूर्वज भी इसी देश के हैं, मैं भाग्यशाली हूं, जो उनका प्रतिनिधित्व कर पा रहा हूं, मेरा जवाब सुन वहां मौजूद छात्र-छात्राओं ने खूब तालियां बजाई थी।

पहले भारतीय हूं
इरफान पठान ने ये भी कहा कि जब मैं क्रिकेट खेलते हूं, तो ये नहीं सोचता कि मैं मुसलमान हूं, क्योंकि मैं खुद को पहले भारतीय मानता हूं, पठान ने आगे कहा, कि अगर पाक जाकर उनके सामने अपने देश के लिये ये कह सकते हैं, तो फिर अपने देश में अपनी बातें क्यों नहीं रख सकते। आपको बता दें कि जामिया में छात्रों के खिलाफ पुलिसिया कार्रवाई के बाद इरफान ने ट्विटर पर लिखा था, राजनीति में आरोप-प्रत्यारोप का दौर चलता रहेगा, लेकिन मैं और हमारा देश जामिया के छात्रों के लिये परेशान हैं। इसी ट्वीट के बाद वो ट्रोलर्स के निशाने पर आ गये थे।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here