Hardik

हार्दिक पंड्या आज टीम इंडिया के अहम सदस्य हो चुके हैं उनकी सैलरी में भी इजाफा होते जा रहा है, आईपीएल में उनकी सैलरी हर साल 11 करोड़ की बढोतरी हो रही है।

टीम इंडिया के स्टार ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या की आईपीएल में पहली बार बोली साल 2014 में लगी थी, 10 लाख बेस प्राइस वाले हार्दिक को किसी भी फ्रेंचाइजी ने नहीं खरीदा था, अगले साल 2015 में उनकी किस्मत खुली और मुंबई इंडियंस ने उन्हें 10 लाख के बेस प्राइस में अपनी टीम में शामिल किया। खिलाड़ियों की अगली नीलामी तक हार्दिक कैप्ड प्लेयर हो चुके थे, उन्हें 2015 में 9 मैच खेलने का मौका मिला, जिसमें अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी से उन्होने चयनकर्ताओं का ध्यान खींचा, 2016 में उन्हें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ डेब्यू का मौका मिला।

सैलरी में इजाफा
हार्दिक पंड्या आज टीम इंडिया के अहम सदस्य हो चुके हैं उनकी सैलरी में भी इजाफा होते जा रहा है, आईपीएल में उनकी सैलरी हर साल 11 करोड़ की बढोतरी हो रही है, 2018 नीलामी में मुंबई ने हार्दिक को रिटेन किया था और अब तक 44.3 करोड़ की सैलरी के साथ टी-20 लीग में सबसे ज्यादा कमाई करने वाले खिलाड़ियों की सूची में 33वें स्थान पर आ गये हैं, हार्दिक ने दिग्गज क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर को भी पछाड़ दिया है।

सचिन की कमाई
सचिन तेंदुलकर 2008 में बतौर ऑइकन प्लेयर मुंबई इंडियंस से जुड़े थे, उन्होने अपने आईपीएल करियर का अंत 38.29 करोड़ की सैलरी के साथ किया, पंड्या पिछले साल सचिन के करीब थे, लेकिन मुंबई इंडियंस ने 2021 के लिये उन्हें रिटेन किया, तो उन्होने सचिन को पछाड़ दिया। हार्दिक मुंबई इंडियंस से 10 लाख में जुड़े थे, 2016 और 2017 में भी उनकी यही फीस थी, लेकिन 2018 में लंबी छलांग लगाते हुए उनकी सैलरी 11 करोड़ रुपये हो गई, हार्दिक ही नहीं उनके बड़े भाई क्रुणाल पंड्या ने भी तेंदुलकर को पछाड़ दिया है, क्रुणाल को मुंबई ने 2 करोड़ में खरीदा था, 2016 और 2017 में भी उन्होने इतना ही कमाया था।

2018 में किस्मत बदली
2018 ऑक्शन में आरसीबी ने क्रुणाल को 8.8 करोड़ रुपये में खरीदा था, लेकिन मुंबई ने राइट टू मैच कार्ड का इस्तेमाल कर क्रुणाल को रिटेन कर लिया, क्रुणाल तब तक अनकैप्ड खिलाड़ी थी, आज भी किसी अनकैप्ड खिलाड़ी के लिये ये रकम सबसे ज्यादा है, कुल मिलाकर क्रुणाल ने अब तक 39.2 करोड़ की सैलरी ली है, जो उन्हें सचिन से आगे करती है, तेंदुलकर की बात करें, तो उन्होने 2008 से 2010 तक 4.48 करोड़ रुपये सैलरी ली थी, 2011 में बीसीसीआई ने फर्स्ट च्वाइस रिटेन प्लेयर की रकम को बढाकर 8.28 करोड़ रुपये कर दिया, 2013 तक तेंदुलकर ने इतना ही कमाया, 2013 में उन्होने आईपीएल से सन्यास ले लिया।

Read Also – Ind Vs Eng- रोहित शर्मा सिर्फ ब्रेडमैन से पीछे, इस मामले में बने नंबर वन बल्लेबाज!