भारतीय टीम कप्तान विराट कोहली और चेतेश्वर पुजारा पर काफी ज्यादा निर्भर थी, ये दोनों बल्लेबाज पहले टेस्ट में फ्लॉप रहे।

वेलिंगटन में खेले गये पहले टेस्ट मुकाबले में टीम इंडिया ने बल्लेबाजी से लेकर गेंदबाजी तक हर मोर्चे पर हथियार डाल दिये, विराट कोहली की टीम को पहले मुकाबले में 10 विकेट से शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा, इस हार के बाद टीम इंडिया के सात मैचों से चले आ रहे विजयी अभियान पर भी ब्रेक लग गया, आखिर भारतीय टीम से कहां चूक हुई, आइये इस पर नजर डालते हैं।

टॉस हारने का नुकसान
विराट कोहली टॉस के मामले में भाग्यशाली नहीं रहे, टॉस हारने की वजह से भारतीय टीम को पहले बल्लेबाजी करना पड़ा, किवी गेंदबाजों को इसका फायदा मिला, बतौर कप्तान विराट कोहली की ये 11वीं हार है, हर बार टॉस हारने के बाद ही वो मैच हारे हैं, भारतीय टीम किसी भी सेशन में सहज नहीं दिखी, पहले दिन पहले सेशन में ही टीम पिच की नमी की वजह से बिखर गई, सिर्फ 163 रन ही बना सकी, दूसरी पारी में भारतीय टीम ने अपने 6 विकेट सिर्फ 46 रनों पर गंवा दिया।

सलामी बल्लेबाज फ्लॉप
एकदिवसीय सीरीज की तरह ही टेस्ट में भी सलामी बल्लेबाज टीम को अच्छी शुरुआत देने में नाकाम रहे, पहली पारी में जहां 16 रनों की साझेदारी हुई, तो दूसरी पारी में सिर्फ 27 रन ही जोड़ सके और पहला विकेट गंवा दिया, मयंक ने दूसरी पारी में जरुर टिक कर खेलने की कोशिश की, अर्धशतक भी लगाया, लेकिन पृथ्वी दोनों पारियों में तकनीकी रुप से कमजोर दिखे।

साउदी-बोल्ट के सामने सरेंडर
टीम इंडिया के बल्लेबाज टिम साउदी और बोल्ट की जोड़ी के आगे हथियार डाल दिये, साउदी और बोल्ट ने मिलकर 20 में से 14 विकेट हासिल किये, भारतीय बल्लेबाज जो तेज गेंदबाजों के खिलाफ अच्छी बल्लेबाजी करते आ रहे थे, वो यहां की स्विंग से मात खा गये, ये टेस्ट में न्यूजीलैंड की सौंवी जीत थी, जिसमें से 28 बार किवी टीम को तब जीत मिली है, जब ये दोनों गेंदबाज एक साथ मैच में खेले हैं।

नहीं चले स्टार बल्लेबाज
भारतीय टीम कप्तान विराट कोहली और चेतेश्वर पुजारा पर काफी ज्यादा निर्भर थी, ये दोनों बल्लेबाज पहले टेस्ट में फ्लॉप रहे, विराट पहली पारी में 2 और दूसरी पारी में सिर्फ 19 रन ही बना सके, वहीं पुजारा वे दोनों पारियों में सिर्फ 11 रन बनाये, अपने स्टार बल्लेबाजों के फ्लॉप होने से टीम बिखर गई।

अश्विन से थी उम्मीदें
अश्विन को टेस्ट क्रिकेट में एक अहम ऑलराउंडर के तौर पर खुद को साबित किया है, हालांकि इस मुकाबले में वो बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों में फ्लॉप रहे, पहली पारी में शून्य और दूसरी पारी में सिर्फ 4 रन ही बना सके, गेंदबाजी में उन्होने तीन विकेट हासिल किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here