Team 1

इसमें कोई दो राय नहीं, कि चेन्नई की पिच पर पहले दो दिन गेंदबाजों के लिये कुछ खास नहीं था, लेकिन सच ये भी है, कि भारतीय गेंदबाजों ने अच्छी लाइन-लेंथ से गेंदबाजी भी नहीं की।

इंग्लैंड की टीम जब भारत आई, तो ज्यादातर विशेषज्ञों का मानना था कि टीम इंडिया के लिये ये सीरीज आसान होगा, हालांकि अंग्रेजों ने चेन्नई में उलटफेर करके बता दिया, कि ये सीरीज किसी भी एंगल से भारत के लिये आसान नहीं होने वाला है, पहले टेस्ट मैच में इंग्लैड की टीम ने 227 रनों से बड़ी जीत हासिल की है, इसके साथ ही 4 मैचों की सीरीज में 1-0 से बढत बना ली है, रोहित, रहाणे, पुजारा, विराट के रहते आखिर कैसे हार गई टीम इंडिया, आइये आपको हार का कारण बताते हैं।

खराब कप्तानी
इस टेस्ट मैच में विराट कोहली कई बार खराब फैसले लेते दिखे, या फिर यूं कहे, कि उनके फैसले गलत साबित हुए, जिसका नजीता आखिर में देखने को भी मिला, इसके साथ ही टीम चयन में भी विराट ने मनमानी दिखाई, उन्होने कुलदीप यादव पर शाहबाज नदीम को तरजीह दी, जिन्होने पूरे टेस्ट में 233 रन देकर 4 विकेट हासिल किये, साथ ही सुंदर भी विकेट के लिये तरसते रहे, हालांकि पहली पारी में उन्होने नाबाद 85 रन बनाकर टीम को 300 के पार पहुंचाया था।

गेंदबाजों के पास नहीं था कोई प्लान
इसमें कोई दो राय नहीं, कि चेन्नई की पिच पर पहले दो दिन गेंदबाजों के लिये कुछ खास नहीं था, लेकिन सच ये भी है, कि भारतीय गेंदबाजों ने अच्छी लाइन-लेंथ से गेंदबाजी भी नहीं की, जो रुट ने स्वीप शॉट से भारतीय स्पिनरों की बखिया उधेड़ कर रख दी, भारतीय गेंदबाज अंग्रेजों के सामने बेबस दिख रहे थे, उनके पास कोई प्लान ही नजर नहीं आ रहा था, दूसरी पारी में गेंदबाजों ने वापसी की, लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी।

रहाणे-रोहित फ्लॉप
चेन्नई की पाटा पिच पर अजिंक्य रहाणे और रोहित शर्मा का फ्लॉप होना भी हार की बड़ी वजह है, दोनों ही दिग्गज बल्लेबाज दोनों पारियों में कुछ नहीं कर सके, रोहित ने पहली पारी में 6 और दूसरी पारी में 12 रन बनाये, जबकि रहाणे पहली पारी में 1 और दूसरी पारी में बिना खाता खोले पवेलियन लौट गये, दोनों की तकनीक में खामियां नजर आई, जिसका फायदा अंग्रेजों ने उठाया।

Read Also – Budget 2021- बजट तैयार करने वाले निर्मला सीतारमण की टीम के बारे में जानते हैं आप?