Mumbai Indians 1

धोनी को दुनिया का सबसे बेहतरीन कप्तान माना जाता है, लेकिन ये पूर्व कप्तान जहीर खान की गेंदबाजी का लोहा मानता है।

7 अक्टूबर की तारीख भारतीय क्रिकेट फैंस के लिये बेहद खास है, क्योंकि आज ही के दिन एक ऐसे तेज गेंदबाज ने जन्म लिया था, जिसने ना सिर्फ देश को कई मैच जिताये, बल्कि अपने बेहतरीन प्रदर्शन के दम पर देश के तेज गेंदबाजों को विदेश जमीन पर अच्छा प्रदर्शन करने का भरोसा पैदा किया, जी हां, हम बात कर रहे हैं बायें हाथ के पूर्व तेज गेंदबाज जहीर खान की, जिन्होने बीते दिन 42वां जन्मदिन मनाया, 1978 में महाराष्ट्र के श्रीरामपुर में पैदा हुए जहीर ने भारत के लिये 200 वनडे, 92 टेस्ट और 17 टी-20 मैच खेले, जबीर ने टेस्ट मैचों में 311 शिकार किये, वहीं उनके नाम 282 वनडे और 17 टी-20 विकेट भी है, आइये उनके जन्मदिन पर बताते हैं आपको कुछ खास बातें।

धोनी मानते थे बेस्ट गेंदबाज
धोनी को दुनिया का सबसे बेहतरीन कप्तान माना जाता है, लेकिन ये पूर्व कप्तान जहीर खान की गेंदबाजी का लोहा मानता है, धोनी ने जहीर खान के लिये रिटायरमेंट के दौरान कहा था कि उन्होने जहीर खान से समझदार तेज गेंदबाज कभी नहीं देखा, धोनी के ये अल्फाज ही उनकी काबिलियत को दर्शाते हैं। zaheer khan जहीर का जन्म एक मध्यम वर्गीय परिवार में हुआ था, उनके पिता फोटोग्राफर और मां शिक्षिका थी, जहीर पढाई में होशियार थे, उन्होने मैकेनिकल इंजीनियरिंग में डिग्री कोर्स में एडमिशन ले लिया, लेकिन कोच सुधीर नायक की सलाह के बाद उन्होने पढाई छोड़ क्रिकेट पर ध्यान दिया, जहीर 17 साल की उम्र में मुंबई आये, और उन्होने नेशनल क्रिकेट क्लब में हुए सभी टूर्नामेंट में जानदार प्रदर्शन किया, बायें हाथ के इस तेज गेंदबाज ने मुंबई अंडर 19 टीम में जगह बनाई, और उसके बाद चेन्नई स्थित एमआरएफ पेस एकेडमी में जाकर वो और निखर गये।

मुंबई में नहीं मिला मौका
जहीर खान ने 1999-2000 में बड़ौदा के लिये अपना फर्स्ट क्लास डेब्यू किया, मुंबई की टीम में मौका नहीं मिलने की वजह से वो बड़ौदा चले गये, फिर 8 मैचों में 35 विकेट लेकर अपने काबिलियत का सबूत पेश किया, साल 2000-01 रणजी फाइनल में 8 विकेट लेकर बड़ौदा को रेलवे पर 21 रनों की रोमांचक जीत दिलाई, 2003 आईसीसी विश्वकप में जहीर ने शानदार गेंदबाजी की, 11 मैचों में 18 विकेट झटके, हालांकि फाइनल में उनका प्रदर्शन औसत रहा, लेकिन टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा विकेट हासिल करने वालों में चौथे स्थान पर रहे थे।

2011 विश्वकप
2003 विश्वकप के फाइनल में खराब प्रदर्शन का गम जहीर खान ने 2011 आईसीसी विश्वकप में मिटाया, जहीर ने भारतीय टीम को चैंपियन बनाने में भूमिका निभाई, इस तेज गेंदबाज ने टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा 21 विकेट हासिल किये, जहीर ने विश्वकप में भारत की ओर से सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज थे, जहीर आईपीएल में आरसीबी, मुंबई इंडियंस और दिल्ली डेयरडेविल्स की ओर से खेले, फिलहाल मुंबई इंडियंस के क्रिकेट डायरेक्टर हैं, रोहित शर्मा की टीम को 5वीं बार चैंपियन बनाने के लिये अपना पूरा अनुभव झोंक रखा है।

Read Also – मैच से पहले ही कोच अनिल कुंबले ने कर दिया था खुला ऐलान, विराट की टीम को मिली शर्मनाक हार!