Friday, April 23, 2021

रिकॉर्डतोड़ पारी के बाद भावुक हुए क्रुणाल पंड्या, कही ऐसी बात, छोटे भाई ने संभाला!

क्रुणाल पंड्या वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू पर 50 प्लस रन बनाने वाले 15वें भारतीय बल्लेबाज हैं, इससे पहले आखिरी बार 2016 में फैज फजल ने ये कारनामा किया था।

टीम इंडिया के ऑलराउंडर क्रुणाल पंड्या ने अपने डेब्यू एकदिवसीय मैच में ही इतिहास रच दिया है, क्रुणाल डेब्यू मैच में सबसे तेज अर्धशतक लगाने वाले बल्लेबाज बन गये हैं, उन्होने पहले वनडे में सिर्फ 26 गेंदों में अर्धशतक लगाकर ये मुकाम हासिल किया है। क्रुणाल ने 31 गेंदों में नाबाद 58 रनों की पारी खेली, जिसमें 7 चौके और 2 छक्के शामिल हैं, इस पारी की बदौलत भारत ने 317/5 का स्कोर खड़ा किया, क्रुणाल ने अपने 30वें जन्मदिन के दिन टीम इंडिया के लिये वनडे में डेब्यू किया और इस दिन को खास पारी खेल यादगार बनाया।

खास प्रदर्शन
क्रुणाल पंड्या वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू पर 50 प्लस रन बनाने वाले 15वें भारतीय बल्लेबाज हैं, इससे पहले आखिरी बार 2016 में फैज फजल ने ये कारनामा किया था, इसके साथ ही वो सबा करीम और रविन्द्र जडेजा के बाद नंबर 7 या उससे नीचे के क्रम में बल्लेबाजी करते हुए डेब्यू पर अर्धशतक लगाने वाले तीसरे भारतीय बल्लेबाज हैं।

पारी के बाद भावुक
स्टार ऑलराउंडर इस पारी के बाद काफी भावुक हो गये, उन्होने अपनी ये पारी दिवंगत पिता को समर्पित किया, क्रुणाल के भावुक होने के कारण मुरली कार्तिक ने उन्हें अपना समय लेने के लिये कहा, क्रुणाल और कुछ बोल पाने की स्थिति में नहीं थे, और उन्होने मुरली कार्तिक से इंटरव्यू खत्म करने को कहा।

पापा को समर्पित
क्रुणाल ने मैच के बाद ट्वीट किया, पापा हर गेंद के बाद आप मेरे मन में थे, और मेरे दिल में भी, जब मैंने आपको अपने साथ महसूस किया तो आंसू बह निकले, मेरी ताकत बनने के लिये बहुत शुक्रिया, मेरी जिंदगी का सबसे बड़ा सपोर्ट बनने के लिये बहुत शुक्रिया, मुझे उम्मीद है कि मैंने आपको गर्व महसूस कराया होगा, ये पारी आपके लिये है, हम जो कुछ करें, सब आपको समर्पित है पापा।

छोटे भाई ने ढांढस बंधाया
बाद में छोटे भाई हार्दिक पंड्या ने क्रुणाल को ढांढस बंधाया, मैच शुरु होने से पहले क्रुणाल को उनके छोटे भाई हार्दिक ने डेब्यू कैप दी थी, उस समय भी क्रुणाल ने आकाश की ओर देखकर अपने पिता को याद किया था। आपको बता दें कि क्रुणाल और हार्दिक के पिता हिमांशु पंड्या कार्डिएक अरेस्ट के बाद इसी साल जनवरी में 71 साल की उम्र में गुजर गये थे, क्रुणाल तब सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में बड़ौदा टीम का नेतृत्व कर रहे थे,  उन्होने घर लौटने के लिये टूर्नामेंट बीच में ही छोड़ दिया था। क्रुणाल के लिये पिछले तीन महीने काफी उतार-चढाव भरे रहे हैं, इस साल जनवरी में सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी से पहले टीम शिविर में उनके साथी खिलाड़ी दीपक हुड्डा ने उन पर बुरा व्यवहार करने का आरोप लगाया था, फिर टीम शिविर छोड़ दिया, हालांकि इस मामले में बड़ौदा टीम प्रबंधन ने क्रुणाल का साथ दिया, इस विवाद के कुछ दिन बाद ही उनके पिता का निधन हो गया।

Read Also – पंड्या की मंगेतर ने सूर्यकुमार यादव की पत्नी को किया ट्रोल, तस्वीर जबरदस्त वायरल

Related Articles

- Advertisement -spot_img

Latest Articles