gayle

क्रिस गेल ने तीसरे टी-20 में कंगारु गेंदबाजों की बखिया उधेड़ते हुए 38 गेंदों में 67 रन बनाये, जिसमें 7 छक्के और 4 चौके लगाये।

कहते हैं कि क्लास परमानेंट होता है, फॉर्म का क्या है, वो तो आती-जाती रहती है, क्रिस गेल भी खराब फॉर्म से जूझ रहे थे, लेकिन जब सवाल उठे, तो जवाब देने जरुरी हो गया, 42 साल के गेल अपने खेल से एक बार फिर सबको याद दिला दिया कि टी-20 के बॉस वो थे, हैं और वहीं रहेंगे, ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गये तीसरे टी-20 मुकाबले में गेल ने मैदान के बीचों-बीच हवाई फायरिंग की ऐसी नुमाइश की, कि उन्होने रन भी बरसाये और नये रिकॉर्ड के बादशाह भी बन गये, उन्होने टी-20 में अपना 14 हजारवां रन ठोका, ऐसा करने वाले दुनिया के इकलौते बल्लेबाज बन गये।

गेंदबाजों की क्लास
क्रिस गेल ने तीसरे टी-20 में कंगारु गेंदबाजों की बखिया उधेड़ते हुए 38 गेंदों में 67 रन बनाये, जिसमें 7 छक्के और 4 चौके लगाये, इनमें 4 छक्के तो सिर्फ 7 गेंदों में ही लगा डाले,

पहली नजर में बेशक ये आंकड़ा आपको गेल के खेल से मैच करता ना दिखे, लेकिन जब ये आप जानेंगे, कि बायें हाथ के विस्फोटक बल्लेबाज 67 रन तक तब पहुंचे, तब उनके 28 गेंदों में सिर्फ 32 रन ही थे, तो आप जरुर दंग रह जाएंगे।

हवाई फायरिंग
खब्बू बल्लेबाज ने सीरीज में ऑस्ट्रेलिया के बेस्ट तेज गेंदबाज जोश हेजलवुड के एक ही ओवर में तीन चौके और 1 छक्का लगाया, वहीं स्पिनर एडम जंपा के एक ओवर में लगातार तीन छक्के लगाये, इन्हीं तीन छक्कों के साथ उन्होने टी-20 क्रिकेट में 14 हजार रन पूरे कर लिये।

तीसरे खिलाड़ी
गेल तीसरे ऐसे खिलाड़ी बन गये हैं, जिसने 40 साल की उम्र होने के बाद भी 1000 टी-20 रन पूरे किये हैं, वो टी-20 इंटरनेशनल में अर्धशतक जमाने वाले सबसे उम्रदराज क्रिकेटर भी बने, खास बात ये है कि गेल के बल्ले से अर्धशतक का दीदार 5 साल बाद हुआ, उन्होने आखिरी बार टी-20 में 50 प्लस का स्कोर अप्रैल 2016 में इंग्लैंड के खिलाफ बनाया था, हालांकि ये भी सच है कि गेल लंबे समय से सिर्फ दुनियाभर की टी-20 लीग में ही हिस्सा ले रहे थे, राष्ट्रीय टीम के लिये टी-20 क्रिकेट से दूरी बनाये हुए थे।

https://youtu.be/kPtQRS5sSDY

Read Also – विराट और धोनी से भी ज्यादा है सचिन तेंदुलकर का नेटवर्थ, कमाई में ये हैं टॉप 10 भारतीय क्रिकेटर