शनिवार शाम को इन बातों का रखें खास ध्यान, दूर होगी जिंदगी की हर परेशानी

0
36

यहां ये भी जानना जरुरी है कि शनिदेव की पूजा सोच-समझकर सावधानी के साथ की जानी चाहिये, ऐसा करने से ही ये तुरंत फलदायी होती है।

शनिवार को खास रुप से शनिदेव की पूजा की जाती है, शनिदेव ग्रहों में न्यायकर्ता माने जाते हैं, हर व्यक्ति के द्वारा किये जाने वाले कार्य का फल शनिदेव ही देते हैं, माना जाता है कि व्यक्ति की आजीविका, रोग और संघर्ष शनि के द्वारा ही निर्धारित किये जाते हैं, इसलिये शनिदेव को खुश करके आप अपने जीवन के कष्टों को दूर कर सकते हैं, साथ ही करियर और धन के मामले में भी सफलता मिल सकती है।

सावधानी से करें पूजा
यहां ये भी जानना जरुरी है कि शनिदेव की पूजा सोच-समझकर सावधानी के साथ की जानी चाहिये, ऐसा करने से ही ये तुरंत फलदायी होती है, आइये आपको बताते हैं कि पूजा के दौरान किन बातों का ध्यान रखें, जिससे आपको जल्द से जल्द फल मिले।

इन बातों का रखें ध्यान
शनि देव की पूजा शनि की मूर्ति के समक्ष ना करें
शनि के उसी मंदिर में पूजा अराधना करनी चाहिये, जहां वो शिला के रुप में हों
प्रतीक के रुप में शमी या पीपल के वृक्ष की अराधना करनी चाहिये।
शनिदेव के पास दीपक जलाना सर्वश्रेष्ठ माना जाता है, लेकिन तेल उड़ेल कर बर्बाद नहीं करना चाहिये।
जो लोग शनिदेव की पूजा करना चाहते हैं, उनको आचरण और व्यवहार अच्छा रखना चाहिये।

कैसे करें शनिदेव की पूजा
शनिवार के दिन पहले शिव या कृष्ण की उपासना करें, फिर शाम में शनिदेव के मंत्रों की जाप करें, इस दिन सुबह नहा-धोकर पीपल के जड़ में जल डाले, इसके बाद वृक्ष के पास सरसों के तेल का दीपक जलाएं, शाम को किसी गरीब व्यक्ति को भोजन करवाएं, इस दिन भूलकर भी तामसिक आहार (मांसाहारी भोजन) ना करें।
शनिदेव को खुश करने का मंत्र
ऊँ शं श्नैश्चराय नमः
ऊँ प्रां प्रीं प्रौं सः श्नैश्चराय नमः
ऊँ शन्नो देविर्भिष्ठयः आपो भवन्तु पीतये, सय्योंरभीस्तवन्तुनः।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here