राहु करने जा रहे हैं राशि परिवर्तन, इन राशियों को करेंगे मालामाल और इन्हें परेशान

0
176
Rahu

अगर कुंडली में राहु की अशुभ स्थिति हो तो जातक को मानसिक पीड़ा के साथ-साथ स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों से गुजरना पड़ता है, बलवान राहु जातक को कोर्ट-कचहरी के मामलों में सफलता दिलाता है।

ग्रहों में अति बलवान कहे जाने वाले राहु 23 सितंबर को दोपहर 12.50 बजे अपनी मिथुन राशि की यात्रा समाप्त करके वक्री अवस्था में वृषभ राशि में प्रवेश करेगा, इस राशि के गोचर काल में राहु को सबसे ज्यादा बलवान माना जाता है, राहु वृषभ राशि के स्वामी हैं, मिथुन राशि इनकी राशिगत राशि है, धनु राशि में इन्हें नीच संज्ञक माना जाता है, किसी भी राशि पर भ्रमण के समय राहु 18 महीने गोचर करते हैं, सलिये फलित ज्योतिषी में शनि के बाद इनके प्रभाव को सबसे ज्यादा महत्व दिया जाता है। अगर कुंडली में राहु की अशुभ स्थिति हो तो जातक को मानसिक पीड़ा के साथ-साथ स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों से गुजरना पड़ता है, बलवान राहु जातक को कोर्ट-कचहरी के मामलों में सफलता दिलाता है। आइये जानते हैं किस राशि पर क्या प्रभाव पड़ेगा।

मेष- इस राशि से धन भाव में राहु का आगमन बेहतरीन सफलता दिलाएगा, आकस्मिक धन लाभ के योग बनेंगे ही काफी दिनों से रुका हुआ पैसा भी वापस मिलने की उम्मीद है, मकान तथा वाहन खरीदने का संकल्प पूरा हो सकता है, जिद और आवेश पर नियंत्रण रखेंगे, तो सफलता की ज्यादा संभावना है।
वृषभ – इस राशि के जातकों को राहु का प्रवेश अप्रत्याशित परिणाम दिलाने वाला सिद्ध होगा, स्वास्थ्य की दृष्टि से आपको बचना होगा, नौकरी में पदोन्नति तथा नये अनुबंध प्राप्ति के योग हैं, स्थान परिवर्तन की चाह रहे हैं, तो प्रयास करें, विद्यार्थियों के समय अच्छा है।
मिथुन – इस राशि के लिये राहु का प्रवेश ज्यादा खर्च कारक यात्रा करवाएगा, सावधानी पूर्व चलें व्यर्थ विवाद से बचें, कोर्ट-कचहरी के मामलों को बाहर ही निपटा लें, विद्यार्थियों को ज्यादा मेहनत करनी होगी।

कर्क – इस राशि वालों के लिये राहु का गोचर किसी वरदान से कम नहीं है, इस स्थान पर गोचर करते हुए सभी समस्याओं का निराकरण करते हैं और विषम परिस्थितियों से निकाल कर उसे सफलता के सर्वोच्च शिखर पर पहुंचाते हैं, परिवार के वरिष्ठों के साथ मतभेद पैदा ना होने दें।
सिंह – छोटे स्तर से काम करके भी आप सफलता की ऊंचाई पर पहुंचेंगे, इस स्थान पर राहु राजनीति के लिये सर्वश्रेष्ठ माने जाते हैं, इसलिये सत्ता सुख मिलेगा।
कन्या- इस राशि वालों के लिये राहु का गोचर अनुकूल फल कारक सिद्ध होगा, सोची-समझी रणनीति कारगर साबित होगी, नये कार्य या व्यापार शुरु करने के लिये समय अनुकूल है।

तुला – इस राशि वालों के लिये राहु काफी मिला जुला फल कारक सिद्ध होगा, आकस्मिक धन अथवा गुप्त धन की प्राप्ति होगी, हो सकता है कि कार्यक्षेत्र में आपको अपने ही लोग नीचा दिखाने की कोशिश करें, ऐसे में षडयंत्रकारियों से सावधान रहें।
वृश्चिक – इस राशि वालों के लिये राहु का गोचर कई तरह के सफलताओं के द्वार खोलेगा, प्रतीक्षित पड़े कार्यों का निपटारा होगा, शासन सत्ता का भी पूर्ण सुख मिलेगा, अधिकारियों से मधुर संबंध बनेंगे।
धनु- इस राशि वालों को स्वास्थ्य की दृष्टि से सावधान रहना होगा, गुप्त शत्रु बनेंगे, अपनी ऊर्जा का उपयोग करते हुए नौकरी में पदोन्नति तथा नये अनुबंध भी हासिल करेंगे।

मकर – विद्यार्थियों को शिक्षा प्रतियोगिता में अच्छी सफलता मिलेगी, संतान संबंधी चिंता परेशान कर सकती है, नव दंपत्ति के लिये संतान प्राप्ति तथा प्रादुर्भाव के भी योग हैं।
कुंभ – इस राशि वालों के लिये राहु का गोचर उतार चढाव लाने वाला सिद्ध होगा, कार्यक्षेत्र में सफलताओं के बावजूद किसी ना किसी वजह से पारिवारिक कलह और मानसिक पीड़ा का शिकार होना पड़ेगा, दिमाग में हर समय कुछ ना कुछ चलता रहेगा, जिसकी वजह से चिड़चिड़ापन आ सकता है।
मीन – सामाजिक प्रतिष्ठा में भारी वृद्धि होगी, आपके लिये गये निर्णयों की सराहना होगी, चुनाव संबंधित कोई फैसला लेना चाह रहे हैं तो असर अनुकूल होगा।

Read Also – शनिवारः 3 राशियों पर शनि की साढ़ेसाती, इन लोगों पर होती है टेढ़ी नजर, जानें दोष कम करने के उपाय