job

ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक गुरु बृहस्पति सुख, समृद्धि, धन और उन्नति के दाता माने जाते हैं, इसलिये उन्हें प्रसन्न करके ही आपकी समस्याएं दूरी होंगी।

हर कामकाजी पेशेवर व्यक्ति नौकरी की सुरक्षा और तरक्की का सपना देखना है, हालांकि हर कोई ये हासिल करने में सक्षम नहीं होता है, अकसर लोग कहते हैं कि उन्हें उनके कार्यस्थल पर सही वेतन नहीं मिल रहा है, वो हर समय नौकरी की तलाश में रहते हैं, ऐसे में अगर आप भी नौकरी में पदोन्नति और वेतन में वृद्धि के लिये कड़ी मेहनत और प्रयास कर रहे हैं, लेकिन ग्रह नक्षत्रों के चलते आपको बार-बार निराश होना पड़ रहा है, आपकी मेहनत व्यर्थ जा रही है, तो आज हम आपको ज्योतिषशास्त्र के मुताबिक नौकरी में तरक्की और वेतन में वृद्धि के कुछ आसान उपाय बताते हैं।

केसर तिलक लगाएं
ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक गुरु बृहस्पति सुख, समृद्धि, धन और उन्नति के दाता माने जाते हैं, इसलिये उन्हें प्रसन्न करके ही आपकी समस्याएं दूरी होंगी, इसके लिये रोजाना सुबह स्नान के बाद माथे और नाभि पर केसर का तिलक लगाएं, ये कार्य में वृद्धि के लिये वास्तव में शुभ माना जाता है, मुट्ठीभर केसर लें और पानी में मिलाकर इसका पेस्ट बना लें, फिर थोड़ा पानी डालकर इसे अच्छे से मिलाएं। इसके बाद इसे एक छोटे से डिब्बे में रख दें, रोजाना स्नान के बाद नाभि और माथे पर लगाएं, ऐसा करने से कुछ ही दिन में आप मनचाहा पद पा सकते हैं और वेतन में वृद्धि होगी।

पूर्व दिशा की ओर मुख
कोरोना काल में पिछले कई दिलों से लोग घर से ही ऑफिस का काम कर रहे हैं, अगर आप भी उनमें से एक हैं, तो आफिस का काम करते समय आपका मुख पूर्व दिशा की ओर होना चाहिये, ये ना सिर्फ आपके द्वारा किये जा रहे काम की तारीफ कराएगा, बल्कि आप करियर की उस ऊंचाई पर पहुंच सकते हैं, जिसकी आप लंबे समय से तलाश कर रहे हैं।

सूर्य पूजा से होगी समस्या दूर
नौकरी में आ रही बाधा या तरक्की पाने में यदि आपको लगातार बाधाओं का सामना करना पड़ रहा है, तो समझ लें कि आपका सूर्य कमजोर है, Surya इसके लिये रोजाना सुबह या रविवार के दिन भगवान सूर्य को तांबे के लोटे से जल चढाएं, ध्यान रहे कि भगवान सूर्य को अर्पित किये गये जल में थोड़ा पीला अक्षत, काला तिल और लाल फूल चढाएं, इससे आपका सूर्य मजबूत होगा, नौकरी में आ रही विध्न बाधाएं दूर होंगी।
(नोट- इस लेख में दी गई जानकारियां धारणाओं पर आधारित है, हम इसकी पुष्टि नहीं करते हैं, इस पर अमल करने के लिये कृपया विशेषज्ञ से सलाह लें)

Read Also – पढाई के लिये बनी रिसेप्शनिस्ट, फिर विदेश की नौकरी छोड़ बनी IPS, प्रेरणादायक है पूजा की कहानी