Mamata-Banerjee

बीते साल भी ममता बनर्जी ने दुर्गा पूजा कमेटियों को 50 हजार रुपये अनुदान के तौर पर दिये थे, इसके अलावा 80 हजार फेरीवालों को दुर्गा पूजा से पहले 2 हजार की एकमुश्त अनुदान राशि दी गई थी।

पश्चिम बंगाल की ममता सरकार ने फैसला लिया है कि इस साल हर दुर्गा पूजा कमेटी को 50 हजार रुपये दिये जाएंगे, ये घोषणा प्रदेश के मुख्य सचिव ने की है, पश्चिम बंगाल में दुर्गापूजा बेहद हर्षोल्लास केसाथ मनाई जाती है, पूरे देश में बंगाल की दुर्गापूजा मशहूर है, माना जा रहा है कि ममता सरकार ने अपने इस फैसले से बड़े स्तर पर लोगों को धार्मिक रुप से लुभाने की कोशिश की है, इससे पहले बीते साल भी ममता सरकार ने दुर्गा पूजा कमेटियों को लेकर घोषणा की थी।

कमेटी को अनुदान
बीते साल भी ममता बनर्जी ने दुर्गा पूजा कमेटियों को 50 हजार रुपये अनुदान के तौर पर दिये थे, इसके अलावा 80 हजार फेरीवालों को दुर्गा पूजा से पहले 2 हजार की एकमुश्त अनुदान राशि दी गई थी, pooja thali maa durga माना गया था कि तब ममता सरकार ने ऐसा फैसला विधानसभा चुनावों के मद्देनजर लिया था, अब ममता बनर्जी विधानसभा चुनाव में प्रचंड जीत हासिल कर फिर से सीएम बन चुकी हैं।

कोरोना की तीसरी लहर की आशंका
आपको बता दें कि कोरोना की तीसरी लहर के मद्देनजर माना जा रहा है कि पंडालों में इस बार भी नियमों में सख्ती रह सकती है, मुंबई में तो गणपति पंडालों के लिये निर्देश भी जारी कर दिये गये हैं। ऐसे में दुर्गापूजा के लिये भी एडवाइजरी जारी की जा सकती है।

मुंबई की मेयर की चेतावनी
मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर ने लोगों को चेतावनी देते हुए कहा है, अभी गणपति बप्पा आने वाले हैं, इसलिये मैंने ऐलान किया है, मेरा घर मेरा बप्पा, मैं अपने बप्पा को छोड़कर कहीं नहीं जाउंगी, इसके लिये मेरा मंडल मेरा बप्पा का नारा है, मंडल में 10 कार्यकर्ता इसका ख्याल रखेंगे, कोई भी इधर-उधर बिना मास्क के नहीं घूमेगा, तीसरी लहर आने वाली नहीं है, बल्कि आ चुकी है, नागपुर में तो अभी ऐलान भी किया गया है।

Read Also – मोदी की मंत्री अनुप्रिया पटेल से 7 गुना ज्यादा अमीर है डिंपल यादव, जानिये यूपी की टॉप महिला नेता की संपत्ति