Tirath singh Rawat2

बीजेपी राष्ट्रीय सचिव, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और पूर्व शिक्षा मंत्री तीरथ सिंह रावत साल 1983 से लेकर 1988 तक आरएसएस के प्रचारक रहे हैं।

उत्तराखंड के नये मुख्यमंत्री की घोषणा हो गई है, आरएसएस के प्रचारक रहे तथा बीजेपी के वरिष्ठ नेता तीरथ सिंह रावत को पार्टी ने त्रिवेन्द्र सिंह रावत की जगह प्रदेश का मुखिया बनाया है, इससे पहले धन सिंह रावत, सतपाल महाराज, अजय भट्ट और केन्द्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक के नाम की चर्चा थी, लेकिन पार्टी के विधायक दल की मीटिंग में तीरथ सिंह रावत को सीएम पद की जिम्मेदारी सौंप दी गई है।

संघ प्रचारक
बीजेपी राष्ट्रीय सचिव, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और पूर्व शिक्षा मंत्री तीरथ सिंह रावत साल 1983 से लेकर 1988 तक आरएसएस के प्रचारक रहे हैं, वो एबीवीपी के उत्तराखंड में संगठन मंत्री भी रह चुके हैं, इसी संगठन में उन्होने राष्ट्रीय मंत्री की जिम्मेदारी भी निभाई थी, इससे पहले वो हेमवती नंदन गढवाल विश्वविद्यालय में छात्र संघ के अध्यक्ष रह चुके हैं, वहीं संयुक्त यूपी में तीरथ सिंह रावत छात्र संघ मोर्चा यूपी में प्रदेश उपाध्यक्ष रहे हैं।

उत्तराखंड के पहले शिक्षा मंत्री
इसके अलावा बीजेपी युवा मोर्चा यूपी के प्रदेश उपाध्यक्ष और राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य रहने का भी उनको मौका मिला था, तीरथ सिंह रावत 1997 में यूपी विधान परिषद के सदस्य निर्वाचित हुए, उस समय उन्हें विधान परिषद में विनिश्चय संकलन समिति का अध्यक्ष बनाया गया, साल 2000 में नवगठित उत्तराखंड के पहले शिक्षा मंत्री रहे, 2007 में बीजेपी उत्तराखंड का उन्हें प्रदेश महांमंत्री बनाया गया, इसके बाद वो प्रदेश चुनाव अधिकारी तथा प्रदेश सदस्यता प्रमुख भी रहे।

आपदा प्रबंधन समिति के सलाहकार
उत्तराखंड दैवीय आपदा प्रबंधन सलाहकार समिति के अध्यक्ष रहे तीरथ सिंह रावत ने साल 2012 में चौबट्टाखाल विधानसभा से विधायक चुने गये, फिर 2013 में उत्तराखंड बीजेपी के अध्यक्ष बने, 2017 में पार्टी ने उन्हें राष्ट्रीय सचिव बनाया।

Read Also – सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सौंपा इस्तीफा, इस दिग्गज की खुल सकती है किस्मत!