द्धव ठाकरे और शरद पवार के बीच तल्खी की प्रमुख वजह भीमा कोरेगांव मामले में एनआईए जांच है, पहले कहा जा रहा था कि भीमा कोरेगांव मामले की जांच महाराष्ट्र पुलिस ही करेगी।

महाराष्ट्र में शिवसेना-कांग्रेस और एनसीपी सरकार में फिलहाल सबकुछ सामान्य नहीं चल रहा है, कई मुद्दों पर सीएम उद्धव ठाकरे और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) चीफ शरद पवार के बीच तनातनी चल रही है, जिसके बाद आज शरद पवार ने सरकार में शामिल एनसीपी कोटे के 16 मंत्रियों को मीटिंग के लिये बुलाया है, कहा जा रहा है कि महाराष्ट्र की सियासत में बड़ा खेल हो सकता है।

क्या है तनातनी की वजह
मालूम हो कि उद्धव ठाकरे और शरद पवार के बीच तल्खी की प्रमुख वजह भीमा कोरेगांव मामले में एनआईए जांच है, पहले कहा जा रहा था कि भीमा कोरेगांव मामले की जांच महाराष्ट्र पुलिस ही करेगी, लेकिन इसके बाद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने एनआईए को इस मामले की जांच सौंपने का फैसला लिया, जिससे एनसीपी चीफ नाराज हो गये, और दोनों के बीच तनातनी शुरु हो गया।

पवार ने जाहिर की थी नाराजगी
शरद पवार ने शिवसेना के प्रति अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए कहा था कि भीमा कोरेगांव मामले में महाराष्ट्र पुलिस के कुछ अधिकारियों का बर्ताव आपत्तिजनक था, मैं चाहता था कि इन अधिकारियों के व्यवहार की भी जांच हो, लेकिन जिस दिन सुबह महाराष्ट्र सरकार के मंत्रियों ने अधिकारियों से मुलाकात की, उसी दिन शाम को तीन बजे केन्द्र ने पूरे मामले को एनआईए को सौंप दिया, संविधान के अनुसार ये गलत है, क्योंकि कानून-व्यवस्था प्रदेश सरकार का मामला है।

एनपीआर को लेकर भी आई खटास
इसके अलावा सीएम उद्धव ठाकरे ने महाराष्ट्र में राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) को भी मंजूरी दे दी है, उद्धव ठाकरे ने कहा था कि एनपीआर में जनता के खिलाफ कुछ भी नहीं है, हालांकि एनसीपी और कांग्रेस इसका खुलकर विरोध कर रही है, दोनों दलों का कहना है कि एनपीआर एनआरसी का द्वार है, इसलिये इसे लागू नहीं करने देंगे।

कांग्रेस से भी खींचतान
सिर्फ एनसीपी ही नहीं बल्कि कांग्रेस से भी शिवसेना की तनातनी जारी है, सावरकर का मुद्दा अभी ठंडा भी नहीं पड़ा था, कि नागरिकता संशोधन अधिनियम और एनपीआर को लेकर शिवसेना-कांग्रेस में ठन गई है, महाराष्ट्र कांग्रेस के प्रवक्ता सचिन सावंत ने कहा कि एनपीआर के प्रावधानों पर कांग्रेस का विरोध है, इस संबंध में कांग्रेस कोटे के मंत्री महाराष्ट्र सरकार से बात करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here