संजय राउत के साथ ठाकरे ने कर दिया ‘खेल’, नाराज भाई ने लिया बड़ा फैसला

0
556
Loading...

सरकार में तीनों पार्टियों के बीच अनबन के सवाल पर उन्होने कहा कि ये सरकार स्थिर है, स्थिर रहेगी, कहीं कोई अनबन नहीं है।

महाराष्ट्र में उद्धव सरकार के 32 दिन बाद 37 मंत्री शपथ लेने जा रहे हैं, महीने भर पहले 28 नवंबर को शिवसेना चीफ उद्धव ठाकरे ने शिवाजी पार्क में सीएम पद की शपथ ली थी, उनके साथ 6 मंत्रियों ने शपथ ली थी, इसी विस्तार को लेकर आज सुबह खबर आई कि शिवसेना नेता संजय राउत नाराज हैं, उनकी नाराजगी की वजह उनके भाई सुनील राउत को मंत्री पद नहीं मिलने की वजह से बताया जा रहा है।

नाराजगी पर सफाई
कथित नाराजगी पर शिवसेना सांसद ने सफाई दी है, उन्होने कहा कि मैं नाराज नहीं हूं, हमने निश्चित किया था कि मेरे परिवार से कोई भी मंत्री मंडल में शामिल नहीं होगा, महाराष्ट्र में सरकार बनने में हमारा योगदान है, ये बड़ी बात है, मैं बिल्कुल नाराज नहीं हूं, मालूम हो कि संजय राउत ठाकरे परिवार के बेहद करीबी माने जाते हैं।

Loading...

सरकार में अनबन
सरकार में तीनों पार्टियों के बीच अनबन के सवाल पर उन्होने कहा कि ये सरकार स्थिर है, स्थिर रहेगी, कहीं कोई अनबन नहीं है, मंत्रीमंडल विस्तार में 32 दिन की देरी को लेकर उन्होने कहा कि थोड़ी देर जरुर हुई है, क्योंकि तीनों पार्टियों का हायकमांड अलग-अलग है, कांग्रेस को तो दिल्ली जाना पड़ता है, इस वजह से देर हो गई।

बीजेपी ने किया बहिष्कार
आपको बता दें कि उद्धव सरकार के कैबिनेट विस्तार का बीजेपी ने बहिष्कार किया है, इस पर संजय राउत ने कहा कि बीजेपी ने गलत परंपरा की शुरुआत की है, इस कार्यकर्म में बीजेपी के पूर्व सीएम देवेन्द्र फडण्वीस को भी शामिल होना चाहिये था, लेकिन वो नहीं हो रहे। मालूम हो कि उद्धव सरकार में एनसीपी नेता अजित पवार डिप्टी सीएम और आदित्य ठाकरे मंत्री पद की शपथ लेंगे, शिवसेना-एनसीपी के कोटे से 13-13 और कांग्रेस के कोटे से 10 मंत्री शपथ ले सकते हैं।

भाई ने दिया इस्तीफा
भले संजय राउत मामले को दबाने की कितनी भी कोशिश कर लें, लेकिन जैसे ही उनके भाई को कुछ नहीं मिला, सुनील राउत ने इस्तीफा सौंप दिया है, हालांकि कहा जा रहा है कि उन्हें मनाने की कोशिशें जारी है।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here