अस्पताल से निकलते ही अपनी ही सरकार के खिलाफ बोले सचिन पायलट, दिया सरकार हिलाने वाला बयान

0
77
Loading...

सचिन पायलट पीड़ितों से मुलाकात के लिये अस्पताल पहुंचे, जहां उन्होने मासूम बच्चों और उनके परिजनों से हालचाल लिया।

राजस्थान के कोटा में जेके लोन सरकारी अस्पताल में मासूम बच्चों की मौत का आंकड़ा बढता ही जा रहा है, साथ ही इस पर सियासी घमासान भी तेज होने लगा है, जहां बीजेपी सत्ताधारी कांग्रेस और गहलोत सरकार पर हमलावर है, तो वहीं कांग्रेस के अंदर भी इस पर आवाज उठने लगी है, डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने अपनी ही सरकार के खिलाफ आवाज उठाते हुए कहा कि इस मामले में जवाबदेही तय होनी चाहिये, अनावश्यक बयानबाजी से बचना चाहिये।

अस्पताल पहुंचे सचिन
शनिवार को सचिन पायलट पीड़ितों से मुलाकात के लिये अस्पताल पहुंचे, जहां उन्होने मासूम बच्चों और उनके परिजनों से हालचाल लिया, और हरसंभव मदद का भरोसा दिया। डिप्टी सीएम ने कहा कि इस मामले में जिस तरह की बयानबाजी हुई है, वो सही नहीं है, मुझे लगता है कि इस मामले में हमारी प्रतिक्रिया संवेदनशील और दयापूर्ण होनी चाहिये थी, 13 महीने सरकार चलाने के बाद कोई मतलब नहीं है कि पुरानी सरकार की कमियों को जिम्मेदार ठहराया जाए, इस मामले में जवाबदेही तय होनी चाहिये।

सीएम ने क्या कहा था
आपको बता दें कि इस मामले पर बयान देते हुए सीएम अशोक गहलोत ने कहा था कि बीजेपी नागरिकता कानून से ध्यान भटकाने के लिये इस मुद्दे को उठा रही है, इसके साथ ही उन्होने इन बच्चों की मौत के लिये बीजेपी की पूर्ववर्ती सरकार को जिम्मेदार बताया था।

अब तक 107 की मौत
मालूम हो कि कोटा में अब तक 107 बच्चों की मौत हो चुकी है, कोटा के बाद बूंदी में भी 10 बच्चों की मौत हो चुकी है, कोटा मामले में गठित जांच समिति ने दो दिन पहले ही अपनी रिपोर्ट दे दी है, जिसमें बताया गया है, कि अस्पताल में लगभग हर तरह के उपकरणों और व्यवस्था में कई खामियां हैं, बच्चों की मौत का मुख्य कारण हाइपोथर्मिया बताया जा रहा है।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here