Rajkumari devi

रामविलास पासवान ने 14 साल की उम्र में राजकुमारी देवी से शादी की थी, फिर 1981 में उन्होने तलाक दे दिया, हालांकि तलाक के बाद भी राजकुमारी पासवान के पैतृक आवास में रही।

लोजपा में मचे घमासान के बीच पूर्व केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान की पहली पत्नी राजकुमारी देवी ने चुप्पी तोड़ी है, उन्होने अपने छोटे देवर पशुपति कुमार पारस को नसीहत दी है। उन्होने कहा कि पारस को पहले अपने परिवार को टूटने से बचाना चाहिये, रामविलास पासवान ने इस पार्टी को संघर्ष और मेहनत से खड़ा किया है, लिहाजा पारस को अभिभावक होने के नाते चिराग पासवान को समझाना चाहिये, उनकी छोटी गलती पर माफ करना चाहिये।

दुख पहुंचा है
खगड़िया जिले के शहरबन्नी गांव स्थित अपने आवास पर राजकुमारी देवी ने कहा कि चाचा-भतीजे के बीच हो रहे विवाद से उन्हें काफी दुख पहुंचा है, आज साहब (रामविलास पासवान) जिंदा होते, Paswan6 तो शायद ऐसी नौबत ही नहीं आती, साहब अपने तीनों भाइयों को बेटे की तरह प्यार और सम्मान देते थे, मैंने कभी कल्पना भी नहीं की थी कि साहब के बनाये परिवार में बिखराव होगा।

पासवान के पैतृक आवास में रहती है
आपको बता दें कि रामविलास पासवान ने 14 साल की उम्र में राजकुमारी देवी से शादी की थी, फिर 1981 में उन्होने तलाक दे दिया, हालांकि तलाक के बाद भी राजकुमारी पासवान के पैतृक आवास में रही, chirag paswan 1 वो कभी पटना-दिल्ली नहीं आती थी, और रीना शर्मा उनके गांव नहीं जाती थी। राजकुमारी तलाक के बाद भी रामविलास को ही अपना पति मानती रही।

पार्टी में वर्चस्व को लेकर झगड़ा
पशुपति पारस समेत पांच सांसदों ने खुद को चिराग पासवान से अलग कर लिया है, पशुपति पारस ने लोकसभा स्पीकर को चिट्ठी लिखकर खुद को संसदीय दल का नेता बनाने की अपील की थी, जिसे मंजूर कर लिया गया था, चिराग ने भी निर्णय लेते हुए पांचों सांसदों को पार्टी से निकाल दिया, बुधवार को चिराग ने प्रेस कांफ्रेस कर जदयू पर पार्टी को तोड़ने का आरोप लगाया और कहा कि उनके चाचा को किसी तरह की बैठक बुलाने या फैसला लाने का अधिकार नहीं है।

Read Also – करोड़ों की संपत्ति के मालिक हैं चिराग पासवान, लाखों की कार में करती हैं सवारी, जानिये बंगले की कीमत