राबड़ी देवी ने बहू पर पहली बार तोड़ी चुप्पी, संगीन आरोप लगाते हुए केस दर्ज कराया

0
118
Loading...

राबड़ी देवी ने महिला थानाध्यक्ष को इस बात की जानकारी दी, कि पिछले 29 सितंबर को ऐश्वर्या ने सचिवालय थाने में लिखित दिया था कि वो कभी भी ससुराल में झगड़ा नहीं करेगी।

लालू परिवार में मचा घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा है, सास राबड़ी देवी और बहू ऐश्वर्या प्रकरण में नया मोड़ आ गया है, बहू ने रविवार राबड़ी देवी पर उनके सुरक्षाकर्मियों की मदद से मारपीट का गंभीर आरोप लगाया था, अब सोमवार को पूर्व सीएम ने पटना पुलिस को बताया कि उन्हें बहू से जान का खतरा है, पटना पुलिस महिला थानाध्यक्ष को दिये आवेदन में लालू की पत्नी ने बताया कि रविवार को उनके 10 सर्कुलर स्थित आवास पर अगर उनकी सुरक्षा में लगे पुलिसकर्मियों ने उन्हें बचाया नहीं होता, तो बहू उनकी जान ले लेती।

भद्दी-भद्दी गालियां दी
पटना पुलिस को दिये आवेदन में पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि बहू ऐश्वर्या ने इस दौरान ना सिर्फ उन्हें भद्दी-भद्दी गालियां दी, बल्कि झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी भी देती रही, राबड़ी देवी ने कहा कि घटना के समय राजद विधायक शक्ति सिंह यादव भी मौके पर मौजूद थे, उन्होने भी बीच-बचाव की कोशिश की ।

सीसीटीवी में कैद
राबड़ी देवी ने महिला थानाध्यक्ष को इस बात की जानकारी दी, कि पिछले 29 सितंबर को ऐश्वर्या ने सचिवालय थाने में लिखित दिया था कि वो कभी भी ससुराल में झगड़ा नहीं करेगी, लेकिन इसके बावजूद 9 अक्टूबर को जब मैं अपने कमरे में आराम कर रही थी, तो बहू ने ना सिर्फ दरवाजे पर लात मारी, बल्कि वहां कूड़ा भी फेंक दिया, जिसकी फुटेज सीसीटीवी में कैद है, सचिवालय पुलिस को फुटेज उपलब्ध करा दिया गया है।

बहू ने स्वीकारी थी गलती
पूर्व सीएम ने पटना की महिला थानाध्यक्ष को ये भी बताया कि इस घटना के एक दिन बाद संरक्षण पदाधिकारी ने मेरे कमरे के आगे से कूड़ा हटवाया था, ऐश्वर्या ने इस दौरान अपनी गलती स्वीकारी थी, राबड़ी देवी ने ये भी कहा कि बीते 29 सितंबर को हुई घटना को लेकर ऐश्वर्या ने मीसा भारती और तेजस्वी के घर के भीतर होने का बयान मीडिया में दिया था, जो सरासर झूठ था, क्योंकि तब मीसा दिल्ली में थी और तेजस्वी गोवा में थे।

मनगढंत आरोप
राबड़ी देवी ने बहू पर आरोप लगाया कि ऐश्वर्या ना सिर्फ उनके परिवार पर मनगढंत आरोप लगाती रहती है, बल्कि झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी भी देती है, उन्हें बहू से जान का खतरा है, राबड़ी देवी ने बीते 26 अक्टूबर को अपने द्वारा सचिवालय थानाध्यक्ष को दिये आवेदन की चर्चा की है, जिसमें तत्कालीन थानाध्यक्ष ने उनके आवेदन में उल्लेखित सारी बातों को सही बताते हुए उनकी सुरक्षा पर चिंता जाहिर की थी । फिलहाल पुलिस आवेदन पर मामले की जांच में जुट गई है।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here