sidhu

सिद्धू चन्नी कैबिनेट में अपने लोगों को मलाईदार विभाग ना मिलने और अपनी अनदेखी को लेकर नाराज हैं, वो पार्टी में अपना कद और बड़ा चाहते हैं।

हाल ही में काफी उथल-पुथल के बाद कांग्रेस ने पंजाब इकाई का अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू को नियुक्त किया था, फिर कैप्टन ने मतभेदों के बाद सीएम पद से इस्तीफा दे दिया, अब सिद्धू ने भी अपनी नाराजगी जताते हुए प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफा सौंप दिया है, उन्होने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को लेटर और इस्तीफा भेज दिया है।

चन्नी को गद्दी
आपको बता दें कि हाल के कुछ दिनों में नवजोत सिंह सिद्धू की मंजूरी के बिना हुई गतिविधियों के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह को सीएम की कुर्सी गंवानी पड़ी, जिसके बाद सिद्धू खुद मुख्यमंत्री बनने के चक्कर में थे, लेकिन पार्टी ने चरणजीत सिंह चन्नी को पंजाब की गद्दी सौंप दी।

कैबिनेट को लेकर नाराज
बताया जा रहा है कि सिद्धू चन्नी कैबिनेट में अपने लोगों को मलाईदार विभाग ना मिलने और अपनी अनदेखी को लेकर नाराज हैं, वो पार्टी में अपना कद और बड़ा चाहते हैं, इसी वजह से उन्होने दबाव बनाने के लिये अपना इस्तीफा भेजा है।

क्या लिखा
सिद्धू ने कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी को लिखे खत में कहा, मनुष्य का चारित्रिक पतन समझौतों से ही शुरु होता है, और मैं पंजाब के भविष्य और पंजाब के कल्याण के एजेंडे के साथ समझौता नहीं कर सकता हूं, इसलिये मैं पंजाब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा देता हूं, कांग्रेस की सेवा करता रहूंगा।

Read Also – प्रशांत किशोर ने छोड़ा कैप्टन अमरिंदर सिंह का साथ, चिट्ठी लिखकर बड़ा ऐलान