modi-farmers (1)

नरेन्द्र मोदी ने कहा कि जब हम कर्जमाफी करते हैं, तो छोटा किसान उससे वंचित रहता है, उसके नसीब में कुछ नहीं आता।

मोदी सरकार के तीन नये कृषि कानूनों के विरोध में किसान पिछले सवा दो महीने से दिल्ली सीमा पर आंदोलन कर रहे हैं, राज्यसभा में आज राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण पर जवाब देते हुए पीएम मोदी ने कहा कि सदन में किसान आंदोलन को लेकर भरपूर चर्चा हुई, ज्यादा से ज्यादा समय जो बात बताई गयी, वो आंदोलन को लेकर था, किस बात को लेकर आंदोलन है, इस पर सब मौन रहे, जो मूलभूत बात है, अच्छा होता कि उस पर भी बात होती, उन्होने कहा कि किसान आंदोलन पर राजनीति हावी हो रही है, विपक्ष ने इस मुद्दे पर अचानक से यू-टर्न ले लिया, पीएम ने किसानों से आंदोलन खत्म करने की अपील की है।

मूलभूत समस्या क्या
किसान आंदोलन पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा, खेती की मूलभूत समस्या क्या है, उसकी जड़ कहां है, मैं आज पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण जी की बात बताना चाहता हूं, वो छोटे किसानों की दयनीय स्थिति पर हमेशा चिंता करते थे, उन्होने कहा कृषि सुधारों की बात करने वाले अचानक से पीछे हट गये, पहले की सरकारों की सोच में छोटा किसान था क्या, जब हम चुनाव आते ही एक कार्यक्रम करते हैं कर्जमाफी, ये वोट का कार्यक्रम है या कर्जमाफी का, ये हिंदुस्तान का नागरिक भली-भांति जानता है।

किसानों को मदद
नरेन्द्र मोदी ने कहा कि जब हम कर्जमाफी करते हैं, तो छोटा किसान उससे वंचित रहता है, उसके नसीब में कुछ नहीं आता, पहले की फसल बीमा योजना भी छोटे किसानों को नसीब ही नहीं होती थी, यूरिया के लिये भी छोटे किसानों को रात-रात भर लाइन में खड़े रहना पड़ता था, उस पर डंडे चलते थे, उन्होने कहा पीएम किसान सम्मान निधि योजना से सीधे किसानों के खाते में पैसे पहुंच रहे हैं, 10 करोड़ ऐसे किसान परिवार हैं, जिनको इसका लाभ मिला है, अब तक 1 लाख 15 हजार करोड़ रुपये उनके खाते में भेजे गये हैं, जिसमें ज्यादातर छोटे किसान हैं।

एमएसपी पर क्या कहा
पीएम मोदी ने कहा कि हमें एक बार देखना चाहिये, कि कृषि परिवर्तन से बदलाव होता है, या नहीं, कोई कमी हो, तो उसे ठीक करेंगे, कोई ढिलाई हो तो उसे कसेंगे, मैं भरोसा दिलाता हूं, कि मंडियां और ज्यादा आधुनिक बनेंगी, एमएसपी है, एमएसपी था और एमएसपी रहेगा, जिन 80 करोड़ लोगों को सस्ते में राशन दिया जाता है, वो भी लगातार रहेगा।

Read Also – चीन नहीं पचा पा रहा भारत की कोरोना वैक्सीन डिप्लोमेसी, मोदी की चाल से पड़ोसी देश में खलबली!