Modi jammu

बताया जा रहा है कि ये बैठक पीएम मोदी की अध्यक्षता में होगी, जिसमें केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह और कुछ अन्य केन्द्रीय नेता रहेंगे।

मोदी सरकार इस महीने 24 जून को जम्मू-कश्मीर की सभी क्षेत्रीय पार्टियों को बातचीत के लिये बुलाया है, सरकार ये कदम केन्द्र शासित प्रदेश में विधानसभा चुनाव कराने समेत राजनीतिक प्रक्रियाओं को बढावा देनवे की पहल के तहत उठा रही है। अधिकारियों ने बताया कि केन्द्रीय नेतृत्व इस बातचीत के लिये नेशनल कांफ्रेंस प्रमुख फारुक अब्दुल्ला, पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती, जम्मू-कश्मीर अपनी पार्टी के अल्ताफ बुखारी, पीपुल्स कांफ्रेस मुखिया सज्जाद लोन को भी बुला सकता है, फारुक और महबूबा दोनों जम्मू-कश्मीर के सीएम रह चुके हैं।

मोदी की अध्यक्षता में बैठक
बताया जा रहा है कि ये बैठक पीएम मोदी की अध्यक्षता में होगी, जिसमें केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह और कुछ अन्य केन्द्रीय नेता रहेंगे, इस बैठक के बारे में जब माकपा नेता और पीपुल्स अलायंस फॉर गुपकार डेक्लेरेशन के प्रवक्ता एम वाई तरिगामी से पूछा गया, तो उन्होने कहा कि हमें सरकार से इस बारे में कुछ नहीं कहा गया है, लेकिन अगर ऐसा कुछ होता है, तो हम इसका स्वागत करेंगे, श्रीनगर से तरिगामी ने कहा कि हमने केन्द्र के साथ सार्थक बातचीत के लिये अपने दरवाजे कभी बंद नहीं किये हैं, इस गठबंधन में नेशनल कांफ्रेंस और पीडीपी भी है, जिसका गठन जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा हटाये जाने और उसे केन्द्र शासित प्रदेश बनाये जाने के बाद किया गया था।

स्वागत करेंगे
जम्मू-कश्मीर अपनी पार्टी के अध्यक्ष बुखारी ने कहा कि अगर ऐसी कोई बातचीत होती है, तो मैं इसका स्वागत करता हूं, ये मार्च 2020 की हमारी स्थिति की पुष्टि करता है, जब हमने ये स्पष्ट कर दिया था कि जम्मू-कश्मीर के लिये लोकतंत्र और राज्य का दर्जा बहाल करने के लिये संवाद ही एक मात्र तंत्र है।

इनकी भी भागीदारी
इस बातचीत में बीजेपी की जम्मू-कश्मीर ईकाई और कांग्रेस को भी भागीदार बनाये जाने की उम्मीद है, बातचीत के जरिये जम्मू-कश्मीर में राजनीतिक प्रक्रिया को मजबूत बनाने की कोशिश होगी।

Read Also – महान धावक मिल्खा सिंह नहीं रहे, 5 दिन पहले पत्नी ने छोड़ा था साथ, पीएम मोदी का ट्वीट वायरल