Yogi owaisi

सपा समेत विपक्ष के आरोपों पर ओवैसी ने कहा कि हम साथ लड़ेंगे, आपको क्यों लगता है कि बीजेपी की हम बी टीम हैं, आप सभी लोग एक ही चश्मे से देखते हैं।

यूपी में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर सियासी पारा चढने लगा है, पिछले दिनों एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने सीएम योगी आदित्यनाथ को चैलेंज दिया था, अब ओवैसी से तेवर नरम पड़ गये हैं, वो अपनी बात से पलट गये हैं, आइये आपको बताते हैं कि आखिर पूरा मामला क्या है।

क्या कहा
एक लीडिंग न्यूज चैनल से बात करते हुए असदुद्दीन ओवैसी ने कहा योगी आदित्यनाथ को निजी तौर पर चैलेंज देने की बात नहीं है, बल्कि बात राजनीतिक विरोध की है, अगर हम विरोध में हैं, तो यही कहेंगे कि हम उनकी सरकार नहीं बनने देंगे, उन्होने कहा कि गठबंधन को लेकर हम भागीदारी मोर्चा में हैं, ओम प्रकाश राजभर सभी दलों को अपने साथ जोड़ रहे हैं।

हम साथ लड़ेंगे
सपा समेत विपक्ष के आरोपों पर ओवैसी ने कहा कि हम साथ लड़ेंगे, आपको क्यों लगता है कि बीजेपी की हम बी टीम हैं, आप सभी लोग एक ही चश्मे से देखते हैं, ये बात दूसरे दलों पर तो लागू नहीं होती। Asaduddin Owaisi आपको बता दें कि पिछले दिनों ही असदुद्दीन ओवैसी ने कहा था कि वो किसी भी सूरत में योगी आदित्यनाथ को 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री नहीं बनने देंगे, प्रदेश में अगले साल शुरुआत में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर ओवैसी ने जानकारी दी थी कि उनकी पार्टी 100 सीटों पर उम्मीदवार उतारेगी, इसके लिये पार्टी ने उम्मीदवारों के चयन की प्रक्रिया भी शुरु कर दी है।

योगी ने स्वीकार किया था चैलेंज
ओवैसी की चुनौती पर सीएम योगी ने कहा था कि ओवैसी बड़े नेता हैं, वो देश के अंदर प्रचार करते हैं, उन्हें एक समुदाय विशेष का समर्थन प्राप्त है, लेकिन वो यूपी के अंदर बीजेपी को चैलेंज नहीं कर सकते, बीजेपी अपने मुद्दों, मूल्यों के साथ चुनावी मैदान में उतरेगी, हम उनके चैलेंज को स्वीकार करते हैं। सीएम ने कहा उन्होने कहा है कि हम नहीं आने देंगे, तो बीजेपी इस बात को कहेगी कि पार्टी 2022 में आकर ही रहेगी, बीजेपी की सरकार ही बनेगी, सीएम योगी ने कहा ओवैसी की अपनी पार्टी है और वो अपने मुद्दों पर चुनाव लड़ेंगे, जबकि हम अपने मुद्दों पर चुनाव लड़ेंगे।

Read Also – सियासी अटकलों के बीच योगी ने पकड़ी दिल्ली की राह, कल दो नेताओं के साथ हुई थी मीटिंग