Nitish Kumar5

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने तेजस्वी यात्रा की बेरोजगारी यात्रा पर चुटकी लेते हुए कहा कि पहले क्या हाल था रोजगार का।

बिहार के सीएम और जदयू सुप्रीमो नीतीश कुमार ने रविवार को जदयू कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित किया, इस दौरान सुशासन बाबू ने कहा कि बिहार के लोगों ने उन्हें साल 2005 में मौका दिया था, तब से वो लगातार काम कर रहे हैं, इसके साथ उन्होने कहा कि जो लोग उन पर सवाल उठाते हैं, उन्हें वो जल्द ही जवाब देंगे, नीतीश ने एक बार फिर दोहराया, कि सीएए और एनआरसी को लेकर बनी स्थायी समिति में लालू प्रसाद यादव भी थे, एनपीआर को लेकर नीतीश ने कहा कि विधानसभा में प्रस्ताव लाकर हमने साफ कर दिया है कि साल 2010 वाले आधार पर ही एनपीआर लागू होगा, बिहार में एनआरसी लागू नहीं होगा, साथ ही मुख्यमंत्री ने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव एनडीए के साथ ही लड़ेंगे, साथ ही 200 से ज्यादा सीटें जीतने का दावा भी किया।

कुछ लोग देश का माहौल बदलना चाहते हैं
नीतीश कुमार के 70वें जन्मदिन के मौके पर पटना के गांधी मैदान में बड़ी तादात में जदयू कार्यकर्ताओं का जुटान हुआ, इस खास मौके पर नीतीश कुमार ने कहा कि सीएए का मामला सुप्रीम कोर्ट चला गया है, कोर्ट के फैसले का इंतजार कीजिए, समाज में इन मुद्दों पर तनाव ना फैलाएं, कुछ लोग चाहते हैं कि देश का माहौल 1947 वाला हो जाये, लेकिन ऐसे किसी भी कीमत पर होने नहीं दिया जाएगा, भारत एक था, एक है और एक ही रहेगा।

तेजस्वी यादव पर हमला
सुशासन बाबू ने नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव की डोमिसाइल नीति लागू करने की मांग पर जवाब देते हुए कहा कि बिहार से माइग्रेशन नहीं होता है, देश में कोई भी कहीं भी जाकर काम कर सकता है, केरल से नर्सें आकर काम करती है, बिहार में बाहर से भी आकर लोग काम करते हैं, हम अपने लोगों को इतना ट्रेनिंग देंगे कि लोग देश ही नहीं बल्कि दूसरे देशों में जाकर भी काम करेंगे।

बेरोजगारी यात्रा पर चुटकी
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने तेजस्वी यात्रा की बेरोजगारी यात्रा पर चुटकी लेते हुए कहा कि पहले क्या हाल था रोजगार का, एक अदद नौकरी के लिये भी बिहार की जनता तरस जाती थी, लेकिन आज कितनी नौकरियां बिहार के लोगों को मिली है, ये सब जानते हैं। आपको बता दें कि तेजस्वी यादव बिहार में सरकार के खिलाफ बेरोजगारी यात्रा कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here