नागरिकता कानून पर नसीरुद्दीन शाह ने तोड़ी चुप्पी, कहा सरकार मजबूर कर रही

0
433
Loading...

नसीरुद्दीन शाह ने अपनी बात रखते हुए कहा कि सरकार लोगों को नागरिकता साबित करने के लिये विवश कर रही है।

नागरिकता कानून को लेकर देशभर में कई जगहों पर विरोध प्रदर्शन हो रहा है, अब कई फिल्म स्टार भी खुलकर सामने आ रहे हैं, बॉलीवुड एक्टर नसीरुद्दीन शाह भी इस कानून को लेकर गुस्सा जाहिर किया है, उन्होने अपनी बात रखते हुए कहा कि मुसलमानों को डरने की जरुरत नहीं है, आपको बता दें कि नसीरुद्दीन शाह इससे पहले भी सरकार के खिलाफ बयान देकर आलोचकों के निशाने पर आ चुके हैं।

नागरिकता का प्रमाण नहीं
नसीरुद्दीन शाह ने अपनी बात रखते हुए कहा कि सरकार लोगों को नागरिकता साबित करने के लिये विवश कर रही है, पासपोर्ट, वोटर आईडी कार्ड और आधार कार्ड जैसे सरकारी दस्तावेज को ही प्रमाण मानने से इंकार किया जा रहा है, क्या ये दस्तावेज नागरिकता का प्रमाण नहीं हैं।

मेरे पास जन्म प्रमाण पत्र नहीं
बॉलीवुड एक्टर ने कहा कि मेरे पास जन्म प्रमाण पत्र नहीं है, अब मैं इसे बनवा भी नहीं सकता, क्या जन्म प्रमाण पत्र नहीं होने की वजह से हमें बाहर कर दिया जाएगा, भारत में 70 साल रहने के बाद मैं खुद को भारतीय साबित नहीं कर पाया, तो पता नहीं क्या होगा।

राजनीतिक बयानबाजी से बचते हैं
इससे पहले एक इंटरव्यू में नसीरुद्दीन शाह ने कहा था कि बड़े कलाकार राजनीतिक बयानबाजी से बचते हैं, फिल्म इंडस्ट्री में बहुत कम ऐसे अभिनेता हैं, जो वास्तव में अपनी राय रखते हैं, लेकिन कुछ इसलिये बोलने से डरते हैं, क्योंकि उन्हें कई चीजें खोने का डर है, हालांकि ऐसे भी कलाकार हैं, जो वास्तव में अपनी आवाज उठा रहे हैं, मुझे लगता है कि बैकलैश का सामना करने का डर धीरे-धीरे खत्म हो जाएगा।

पहले भी निशाने पर रहे
आपको बता दें मोदी सरकार वन के कार्यकाल के दौरान असहिष्णुता के मुद्दे पर नसीरुद्दीन शाह ने बयान दिया था, जिसके बाद मोदी समर्थक उनके पीछे पिल पड़े थे, हालांकि उसके बाद नसीरुद्दीन शाह ने चुप्पी साध ली थी, अब एक बार फिर उन्होने नागरिकता कानून को लेकर बयान दिया है।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here