Home देश उत्तर प्रदेश ऐसे मुलायम के करीब पहुंची थी साधना गुप्ता, जानिये कौन हैं अखिलेश...

ऐसे मुलायम के करीब पहुंची थी साधना गुप्ता, जानिये कौन हैं अखिलेश की सौतेली मां!

0
379
mulayam family

साधना गुप्ता मूल रुप से इटावा के बिधुना तहसील की रहने वाली हैं, साल 1986 में उनकी शादी फर्रुखाबाद के चंद्रप्रकाश गुप्ता से हुई थी।

यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री तथा समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव ने दो शादियां की है, उनकी पहली पत्नी का नाम मालती देवी था, अखिलेश यादव मालती और मुलायम के ही इकलौते बेटे हैं, पूर्व सीएम की दूसरी पत्नी का नाम साधना गुप्ता है, आइये आपको बताते हैं कि अखिलेश यादव की सौतेली मां कैसे नेताजी के करीब पहुंच गई।

इटावा की रहने वाली
साधना गुप्ता मूल रुप से इटावा के बिधुना तहसील की रहने वाली हैं, साल 1986 में उनकी शादी फर्रुखाबाद के चंद्रप्रकाश गुप्ता से हुई थी, शादी के बाद साधना ने बेटे प्रतीक को जन्म दिया था, बेटे के जन्म के करीब दो साल बाद साधना अपने पहले पति से अलग हो गई, दोनों का तलाक हो गया, जिसके बाद साधना गुप्ता सपा के तत्कालीन सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव के संपर्क में आई, दरअसल साधना गुप्ता भी सपा का कार्यकर्ता थी।

अखिलेश की बायोग्राफी में जिक्र
अखिलेश यादव की बायोग्राफी बदलाव की लहर में मुलायम और साधना के रिश्ते का भी जिक्र है, इस किताब में बताया गया है कि मुलायम की मां मूर्ति देवी अकसर बीमार रहती थी, तब साधना गुप्ता उनकी देखभाल करती थीं, किताब के अनुसार एक बार इलाज के दौरान एक नर्स मूर्ति देवी को गलत इंजेक्शन लगाने जा रही थी, उस समय वहां मौजूद साधना ने नर्स को रोक दिया, सपा नेता को जब ये बात पता चली तो वो साधना से काफी प्रभावित हुए यहीं से दोनों के रिश्ते की शुरुआत हुई थी।

दूसरी शादी
साल 2003 में मालती देवी के निधन के बाद ही मुलायम सिंह यादव ने सार्वजनिक रुपसे साधना को अपनी पत्नी का दर्जा दिया, मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक साधना गुप्ता के कारण अखिलेश यादव अपने पिता से काफी नाराज भी हुए थे। फिलहाल साधना राजनीति में नहीं हैं, उनके बेटे प्रतीक भी राजनीति से दूर हैं, हां साधना गुप्ता की बहू अपर्णा यादव विधानसभा चुनाव लड़ चुकी हैं, अखिलेश यादव के उनकी सौतेली मां और भाई से कुछ खास संबंध नहीं हैं, सार्वजनिक तौर पर सपा प्रमुख ज्यादा अपने पिता के दूसरे परिवार के साथ नजर नहीं आते हैं।

Read Also – यूपी में बलात्कारियों की खैर नहीं, मिशन शक्ति के अंतर्गत 2 दिन में 14 को फांसी, 20 को उम्रकैद