Modi_Cabinet1

बुधवार शाम को हुए कैबिनेट विस्तार के बाद पीएम मोदी ने गुरुवार शाम को नवगठित कैबिनेट के साथ पहली मीटिंग की, सूत्रों के अनुसार इस मीटिंग में पीएम मोदी ने साफ कहा कि जिन मंत्रियों को हटाया गया है, उसके पीछे उनकी क्षमता में कोई कमी नहीं थी।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने कैबिनेट के नये सदस्यों को नसीहत दी है, कि वो अपने पहले से मंत्रियों से कामकाज सीखें, बेवजह बयानबाजी से बचें, नवगठित केन्द्रीय कैबिनेट की गुरुवार शाम पहली मीटिंग हुई, जिसमें पीएम मोदी ने आने वाले सत्र में पूरी तैयारी से आने तथा सदन में ज्यादा से ज्यादा समय रहने के लिये कहा है, साथ ही पीएम मोदी ने नये मंत्रियों को पुराने मंत्रियों से कामकाज सीखने की सलाह दी है।

क्यों हटाया
बुधवार शाम को हुए कैबिनेट विस्तार के बाद पीएम मोदी ने गुरुवार शाम को नवगठित कैबिनेट के साथ पहली मीटिंग की, सूत्रों के अनुसार इस मीटिंग में पीएम मोदी ने साफ कहा कि जिन मंत्रियों को हटाया गया है, उसके पीछे उनकी क्षमता में कोई कमी नहीं थी, बल्कि व्यवस्था के तहत उन्हें हटाया गया है, पीएम ने नये मंत्रियों से कहा कि वो अपने पूर्ववर्ती मंत्रियों के अनुभव से अपने कामकाज को बेहतर करें, और जवाबदेही के साथ काम करें।

कोरोना को लेकर लापरवाही नहीं
नये मंत्रियों के साथ मीटिंग में पीएम ने कहा कि पिछले कुछ दिनों से हम सभी भीड़-भाड़ वाली जगहों और बिना मास्क या सोशल डिस्टेंसिंग के घूम रहे लोगों की तस्वीरें और वीडियोज देख रहे हैं, ये कोई सुखद नजारा नहीं है, इससे हममें भय की भावना पैदा होनी चाहिये। उन्होने जोर देकर कहा कि हमारे कोरोना योद्धाओं और अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ताओं द्वारा संचालित, वैश्विक महामारी के खिलाफ भारत की लड़ाई पूरे जोश के साथ चल रही है, हम अपने देश की आबादी की पर्याप्त संख्या में लगातार वैक्सीनेशन कर रहे हैं, परीक्षण भी लगातार जारी है, ऐसे में लापरवाही के लिये कोई जगह नहीं होनी चाहिये, एक गलती के दूरगामी प्रभाव होंगे, कोरोना पर काबू पाने की लड़ाई कमजोरी होगी। उन्होने अपने मंत्रियों से कहा कि मंत्री के रुप में हमारा उद्देश्य भय पैदा करना नहीं बल्कि लोगों से हर संभव सावधानी बरतने का अनुरोध करना होना चाहिये, ताकि हम आने वाले समय में इस महामारी से आगे बढ सकें।

नड्डा ने किया था फोन
कैबिनेट विस्तार से पहले पीएम मोदी ने अपने 12 मंत्रियों को हटा दिया था, इन मंत्रियों को इस्तीफा देने की सूचना देने का काम पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने संभाला, सूत्रों के मुताबिक नड्डा ने सुबह 7 से 8 बजे के बीच हटाये जाने वाले मंत्रियों को फोन कर इस्तीफा पीएमओ को भेजने को कहा।

Read Also – मोदी कैबिनेट- खुद को रोक नहीं सके बाबुल सुप्रियो, सोशल मीडिया पोस्ट में छलका दर्द