Wednesday, May 12, 2021

नीतीश के मंत्री को कुछ ही घंटे में देना पड़ा इस्तीफा, आज ही संभाला था पद!

4 साल पहले 2016 में कृषि विश्वविद्यालय में भर्ती में धांधली का आरोप लगा था, 281 पदों के लिये निकाले गये वैकेंसी में 166 लोगों की भर्ती में धांधली का आरोप था।

इसी सप्ताह बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने सातवीं बार पद और गोपनीयता की शपथ ली है, उनके साथ 12 मंत्रियों ने शपथ ली थी, लेकिन आज मेवालाल चौधरी ने ओहदा संभालते ही अपने पद से इस्तीफा दे दिया है, नीतीश ने डॉ. मेवालाल चौधरी को शिक्षा मंत्री बनाया था, बताया जा रहा है कि भ्रष्टाचार के आरोप की वजह से उन्हें इस्तीफा देना पड़ा है।

आज ही संभाला था पद
इससे पहले मेवालाल चौधरी ने आज ही पद की जिम्मेदारी संभाली थी, इस मौके पर वो मीडिया के सवालों से परेशान नजर आ रहे थे, अपने ऊपर लगे करप्शन के इल्जामात पर उन्होने सफाई दी, लेकिन मीडिया वालों के सवालों से जवाब देने में हिचकिचाते नजर आ रहे थे, मेवालाल ने कहा कि उनके खिलाफ ना कोई चार्जशीट है और ना ही अभी तक कुछ साबित हुआ है।

भ्रष्टाचार के आरोप
आपको बता दें कि मेवालाल चौधरी पर करप्शन के आरोप है, पूर्व आईपीएस अमिताभ दास ने भी शिक्षा मंत्री पर गंभीर आरोप लगाया थे, पिछले साल ही मेवालाल की पत्नी की संदिग्ध स्थिति में जलकर मौत हुई है, पूर्व आईपीएस ने डीजीपी को पत्र लिखकर कहा था कि इस मामले के तार कृषि विश्वविद्यालय नियुक्ति घोटाले से जुड़े हो सकते हैं, मामले की जांच के लिये पूर्व आईपीएस ने पुलिस महानिदेशक को पत्र लिखा था।

घोटाले का आरोप
4 साल पहले 2016 में कृषि विश्वविद्यालय में भर्ती में धांधली का आरोप लगा था, 281 पदों के लिये निकाले गये वैकेंसी में 166 लोगों की भर्ती में धांधली का आरोप था, Tejashwi mewa आरोप के मुताबिक जिन उम्मीदवारों को कम नंबर मिले, उन्हें पास कर दिया गया और ज्यादा नंबर वालों को फेल कर दिया गया था।

Related Articles

- Advertisement -spot_img

Latest Articles