Sourav-Ganguly1

सौरव गांगुली और ममता बनर्जी की इस मुलाकात के बाद राजनीतिक गलियारों में चर्चाओं का दौर शुरु हो गया है, टीएमसी को गुरुवार दोपहर में गांगुली के आवास पर पहुंचने के बाद उन्हें गुलदस्ता देते देखा गया।

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान तथा मौजूदा बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली के जन्मदिन पर बधाई देने वालों का तांता लग गया है, पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने भी उनके घर जाकर दादा को जन्मदिन की बधाई दी, दीदी के दादा के घर जाने पर सियासी अटकलें लगनी शुरु हो गई कि सौरव गांगुली जल्द ही तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं।

49वां जन्मदिन
बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली 49 साल के हो गये हैं, इस मौके पर सीएम ममता बनर्जी उनके घर पहुंचे, ये पहला मौका है, जब ममता बनर्जी सौरव गांगुली के घर पर आई हों, आमतौर पर वो हर साल सौरव गांगुली को बधाई देती थी, लेकिन पहली बार उनके घर पर जाकर जन्मदिन की बधाई दी, वो गांगुली के घर पर करीब 45 मिनट रुकी, घर वालों से बातचीत की।

नई चर्चा शुरु
सौरव गांगुली और ममता बनर्जी की इस मुलाकात के बाद राजनीतिक गलियारों में चर्चाओं का दौर शुरु हो गया है, टीएमसी को गुरुवार दोपहर में गांगुली के आवास पर पहुंचने के बाद उन्हें गुलदस्ता देते देखा गया, रिपोर्ट्स के अनुसार सौरव गांगुली ने भी लौटते समय ममता दीदी को एक साड़ी भेंट की। सौरव गांगुली और ममता बनर्जी की इस मुलाकात को बेहद खास माना जा रहा है, हाल ही में हुए पश्चिम बंगाल चुनावों में बीजेपी सौरव गांगुली को अपनी पार्टी में शामिल करने की कोशिश में थी, तब गांगुली ने फिलहाल राजनीति में आने से मना कर दिया था, बीजेपी की इच्छा था कि सौरव गांगुली ममता के खिलाफ चुनाव लड़ें, हालांकि ऐसा नहीं हो सका, अब ममता-गांगुली की मुलाकात के बाद अटकलें लगाई जा रही है कि बीसीसीआई प्रमुख जल्द ही टीएमसी में शामिल हो सकते हैं।

तीसरी बार सीएम
ममता बनर्जी पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में बीजेपी को करारी शिकस्त देकर तीसरी बार प्रदेश की सीएम बनी हैं, गांगुली भी ममता के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल हुए थे, उसके बाद से ही गांगुली के टीएमसी में शामिल होने की बात कही जा रही है। ममता और गांगुली के बीच काफी अच्छे संबंध हैं, इस साल जनवरी में जब सौरव गांगुली को हार्ट अटैक आया था, तो खुद सीएम उनका हालचाल लेने के लिये अस्पताल पहुंची थी, गांगुली को बंगाल क्रिकेट संघ का अध्यक्ष बनाने में भी ममता की बड़ी भूमिका रही हैं। हालांकि बीसीसीआई अध्यक्ष बनने के बाद उन्होने ये पद छोड़ दिया।

Read Also – ममता बनर्जी की पार्टी में वापसी करेंगे मुकुल रॉय? बीजेपी को बड़ा झटका