इस मुद्दे पर पार्टी लाइन से हटकर कांग्रेस प्रवक्ता कर रही मोदी की तारीफ, नखत खान से बनी हैं खुशबू सुंदर

0
92
Khusboo Sunder

साउथ फिल्मों में नाम कमाने के बाद खुशबू साल 2014 में कांग्रेस पार्टी में शामिल हुई थी, तब उन्होने कहा था कि कांग्रेस ही एक मात्र ऐसी राजनीतिक पार्टी है, जो जातियों और पंथों के बीच एकता तथा सद्भावना बना सकती है।

सोशल मीडिया पर इन दिनों कांग्रेस प्रवक्ता खुशबू सुंदर की खूब चर्चा हो रही है, दरअसल खुशबू ने पार्टी लाइन से बाहर निकलकर मोदी सरकार की नई शिक्षा नीति की तारीफ की है, साथ ही राहुल गांधी की नसीहत भी दी है, कांग्रेस नेता ने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 को लेकर मेरी राय पार्टी लाइन से अलग हैं, मैं राहुल गांधी जी से इसे लेकर माफी मांगती हूं, मैं कोई कठपुतली या रोबोट की तरह सिर हिलाने से ज्यादा तथ्यों पर बात करना पसंद करती हूं, जरुरी नहीं कि हर बार आप अपने नेता की बातों से सहमत हों।

2014 में कांग्रेस में शामिल
साउथ फिल्मों में नाम कमाने के बाद खुशबू साल 2014 में कांग्रेस पार्टी में शामिल हुई थी, तब उन्होने कहा था कि कांग्रेस ही एक मात्र ऐसी राजनीतिक पार्टी है, जो जातियों और पंथों के बीच एकता तथा सद्भावना बना सकती है, इससे पहले वो करुणानिधि की पार्टी डीएमके में थी, मुंबई में पैदा हुई खुशबू ने सिनेमा में अपना डेब्यू बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट किया था। द बर्निंग ट्रेन के हिट गाने में वो नजर आई थी, इसके अलावा उन्होने हिंदी फिल्मों में भी काम किया है, हालांकि उम्मीद के मुताबिक काम नहीं मिलने के बाद उन्होने दक्षिण भारतीय फिल्मों का रुख किया, जहां उन्होने दो सौ फिल्मों में काम किया है।

नखत खान से बनीं खुशबू सुंदर
कम ही लोग जानते हैं कि खुशबू का असली नाम नखत खान है, हालांकि नाम बदलने की वजह से उन्हें अकसर सोशल मीडिया पर ट्रोल किया जाता है, ऐसे ही एक बार विवाद होने के बाद उन्होने सफाई दी थी, उन्होने बताया था कि जब वो सात साल की थी, तो उनके घर वाले उन्हें खुशबू के नाम से बुलाते थे, बाद में शादी के बाद उन्होने पति का नाम भी जोड़ लिया। इस तरह उन्हें खुशबू सुंदर के नाम से जाना जाने लगा, उन्होने बताया कि परिवार और दोस्त अभी भी उन्हें नखत के नाम से ही जानते हैं, खुशबू ने साउथ फिल्मों के डायरेक्टर सुंदर सी से शादी की है, दोनों के दो बच्चे भी हैं।

विवादों से नाता
एक्टिंग में नाम कमाने के बाद खुशबू का नाम तमाम विवादों से भी जुड़ता रहा है, साल 2019 लोकसभा चुनाव के दौरान उनका एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें उन्होने एक शख्स को थप्पड़ जड़ दिया था, इस पर खुशबू ने कहा कि वो बंगलुरु सेंट्रल के इंदिरा नगर से कांग्रेस प्रत्याशी के लिये वोट मांग रही थी, तभी भीड़ में एक शख्स ने उन्हें गलत तरीके से छूने की कोशिश की थी, जिसके बाद उन्होने उस शख्स को थप्पड़ मार दिया था।

Read Also – किरण बेदी की होगी दिल्ली वापसी?, बड़ी जिम्मेदारी दे सकती है मोदी सरकार!